Wednesday , 22 January 2020
गोल्ड बांड में निवेश करना है बेहद सरल

गोल्ड बांड में निवेश करना है बेहद सरल

निवेशकों को गोल्ड बांड में निवेश करने का फिर से मौका मिला है. वित्त मंत्रालय ने सॉवरेन गोल्ड बांड 2019-20 (सीरीज-8) की घोषणा कर दी है. इसका विंडो अगले सोमवार 13 जनवरी से शुक्रवार 17 जनवरी तक खुला हुआ है. गोल्ड में निवेश करना बेहद सरल है. यहां हम बता रहे हैं कि आप किस तरह से कर सकते हैं गोल्ड बांड में निवेश.

कहां-कहां से खरीदा जा सकता है गोल्ड बांड

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के एक एफएक्यू के मुताबिक निवेशक सरकारी बैंकों, सूचीबद्ध निजी बैंकों, सूचीबद्ध विदेशी बैंकों, निर्धारित डाक घरों, एसएचसीआईए और अधिकृत स्टॉक एक्सचेंजों से सीधे या एजेंट के जरिये गोल्ड बांड खरीद सकते हैं. आप अपने ऑनलाइन बैंक खाते से मिनटों में गोल्ड बांड खरीदने की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं. उदाहरण के लिए यदि आप एचडीएफसी बैंक से ऑनलाइन तरीके से गोल्ड बांड खरीदना चाहते हैं, तो पहले अपने खाते में लॉगइन कीजिए. लॉगइन करने के बाद खाते में दाहिनी ओर लॉगआउट बटन के नीचे ऑफर का बटन दिखेगा. इसे क्लिक कीजिए. इसके बाद बैंक की ओर से दिए जा रहे सभी ऑफर पेज पर आ जाएंगे. इसमें से एक ऑफर गोल्ड बांड का है. गोल्ड बांड ऑफर के अंदर अधिक जानकारी हासिल करने के लिए आप know more पर क्लिक कर सकते हैं. गोल्ड बांड खरीदने के लिए आप buy now पर क्लिक करेंगे. इसके बाद एक फॉर्म खुल जाएगा. आपको फॉर्म भरना है. इसके बाद जनरेट ओटीपी पर क्लिक कर आगे की प्रक्रिया पूरी करनी होगी.

अन्य प्रकार से बांड खरीदने के लिए आवेदन कहां से मिलेगा

आरबीआई के मुताबिक सॉवरेन गोल्ड बांड खरीदने के लिए निवेशक गोल्ड बांड बेचने वाले बैंकों की शाखाओं, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), अधिकृत डाक घरों और एजेंटों से आवेदन पत्र हासिल कर सकते हैं. आरबीआई के वेबसाइट से भी इसे डाउनलोड किया जा सकता है. याद रखिए फिजिकल या ऑनलाइन किसी भी तरीके से आवेदन करने के लिए केवाईसी के तौर पर हर आवेदन के साथ पैन नंबर देना जरूरी है.

घर के सभी सदस्य अलग-अलग खरीद सकते हैं गोल्ड बांड

घर के प्रत्येक सदस्य अलग-अलग गोल्ड बांड में निवेश कर सकते हैं. हालांकि इसके लिए सदस्यों को नियमों पर खरा उतरना होगा. निवेशक यदि टैक्स बचाने के लिए गोल्ड बांड खरीदना चाहते हैं, तो यह जान लेना चाहिए कि इसके निवेश पर 80सी के तहत टैक्स छूट का लाभ नहीं मिलता है.

बांड का होल्डिंग सर्टिफिकेट कब मिलेगा

जब भी सरकार गोल्ड बांड का ऑफर लाती है, तो बांड को जारी करने की तिथि की भी घोषणा करती है. उसी दिन निवेशकों को होल्डिंग सर्टिफिकेट जारी किया जाता है. गोल्ड बांड के ताजा ऑफर के तहत 21 जनवरी को यह जारी किया जाएगा. होल्डिंग सर्टिफिकेट बांड बेचने वाले बैंक, एसएचसीआईएल, डाक घर, अधिकृत स्टॉक एक्सचेंज या एजेंट से हासिल किया जा सकता है. यदि निवेशक ने आवेदन पत्र में अपना ईमेल पता दिया है, तो वे इसे सीधे आरबीआई से भी ईमेल के जरिये मंगा सकते हैं.

डीमैट फॉर्म में भी रखा जा सकता है गोल्ड बांड

गोल्ड बांड को शेयरों की तरह डीमैट फॉर्म में भी रखा जा सकता है. इसके लिए आवेदन करने के समय ही आवेदन पत्र में अनुरोध करना होगा. जब तक बांड का डीमैटेरियलाइजेशन पूरा होने तक यह आरबीआई के खाते में रहेगा. फिजिकल बांड मिलने के बाद भी इसके डीमैट फॉर्म में बदलवाया जा सकता है.

ताजा ऑफर का इश्यू प्राइस प्रति ग्राम 4,016 रुपए है

गोल्ड बांड के ताजा ऑफर के तहत इश्यू प्राइस 4,016 रुपए प्रति ग्राम निर्धारित किया गया है. निवेश आवेदन का सेटलमेंट 21 जनवरी 2020 को हो जाएगा. यानी निवेशकों को इस दिन बांड मिल जाएगा.

ऑनलाइन भुगतान करने वालों को प्रतिग्राम 50 रुपए सस्ता मिलेगा बांड

सरकार ने गोल्ड बांड के लिए ऑनलाइन तरीके से आवेदन और भुगतान करने वालों को प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट देने का फैसला किया है. यानी एक भरी (10 ग्राम) सोने के बांड पर निवेशकों को 500 रुपये की बचत हो सकती है. छूट के बाद गोल्ड बांड का इश्यू प्राइस प्रति ग्राम गोल्ड के लिए 3,966 रुपये हो जाएगा.