बच्चों को मानसिक तौर पर बीमार कर रहा इंस्टाग्राम – Daily Kiran
Wednesday , 20 October 2021

बच्चों को मानसिक तौर पर बीमार कर रहा इंस्टाग्राम


नई दिल्ली (New Delhi) . इंस्टाग्राम बच्चों को मानसिक तौर पर बीमार कर रहा है और वह डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं. यह दावा ‎किया गया है एक ताजा अध्ययन में. बता दें कि इंस्टाग्राम फेसबुक की ही स्वामित्व वाली फोटो और वीडियो-शेयरिंग ऐप है. एक रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक के स्टडी में यह पाया गया है कि इंस्टाग्राम ऐप किशोरों के लिए हानिकारक है. पिछले तीन वर्षों में फेसबुक के अध्ययनों का हवाला देते हुए लिखा है कि इंस्टाग्राम अपने यंग यूजर्स बेस को किस तरह से प्रभावित कर रहा है. इसमें सबसे अधिक प्रभावित कम उम्र की लड़कियां हो रही हैं.

फेसबुक की रिपोर्ट के अनुसार, इंस्टाग्राम कम उम्र के बच्चों को इस तरह प्रभावित कर रहा है कि उन्हें आत्महत्या तक के ख्याल आने लगते हैं. करीब 13फीसदी ब्रिटिश यूजर्स और 6फीसदी अमेरिकी यूजर्स ने इंस्टाग्राम पर इसको सर्च भी किया है.रिपोर्ट के अनुसार, 32 फीसदी किशोर लड़कियों ने कहा कि इंस्टाग्राम उन्हें बॉडी को लेकर काफी बुरा महसूस कराता है. फेसबुक ने कथित तौर पर यह भी पाया कि अमेरिका में 14फीसदी लड़कों ने कहा कि इंस्टाग्राम ने उन्हें अपने बारे में बुरा महसूस कराया है. सोशल मीडिया (Media) कंपनी ने जिन विशेषताओं को सबसे हानिकारक के रूप में पहचाना है उसमें सबसे प्रमुख मेकअप है. यानी कम उम्र के बच्चे इंस्टाग्राम पर सुंदर चाहती है और अगर ऐसा नहीं होता तो वे डिप्रेस्ड हो जाती है. इंस्टाग्राम हर 3 में से 1 लड़की में बॉडी इमेज की समस्या को बदतर बनाता है.

रिपोर्ट के अनुसार, शोधकर्ताओं ने इंस्टाग्राम के एक्सप्लोर पेज को चेतावनी दी है जो यूजर्स को कई तरह के अकाउंट से क्यूरेट पोस्ट करता है. यूजर्स को ऐसी चीजों को लेकर आकर्षित कर रहा है जो उनके लिए हानिकारक हो सकती है. ऐप में केवल बेहतरीन तस्वीरें और तुरंत पोस्ट करने की फीचर्स भी है जो कम उम्र वालों के लिए एक नशे की लत की तरह है. फेसबुक के शीर्ष अधिकारियों ने शोध की समीक्षा की है. पिछले साल सीईओ मार्क जुकरबर्ग को दी गई एक प्रस्तुति में इसका हवाला दिया गया था. फिर भी, फेसबुक ने कथित तौर पर यूजर्स को इंगेज रखने और प्लेटफॉर्म पर आने के लिए आकर्षित करता रहता है. बता दें कि फेसबुक 13 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए इंस्टाग्राम का एक वर्जन भी बना रहा है. इंस्टाग्राम बच्चों की सुरक्षा के लिए गंभीरता से कदम उठा रही है. हाल ही में कंपनी ने टीनएजर्स को अनजान और संदिग्ध वयस्कों से सुरक्षित रखने के लिए भी कई कड़े सुरक्षा कदम उठाए हैं.

इंस्टाग्राम ने नई पॉलिसियां पेश की हैं, जिससे वयस्क यूजर्स के लिए एक टीनएजर्स के संपर्क में रहना मुश्किल हो जाएगा यदि वह टीनएजर्स द्वारा फॉलो नहीं किए जा रहे हैं तो कंपनी ने कई ऐसे फीचर्स भी पेश किए जो टीनएजर्स को उनके संपर्क में रहने के लिए वयस्क यूजर के संदिग्ध व्यवहार के बारे में अलर्ट करेगा.. हाल ही में यह खबर आई थी कि फेसबुक इंस्टाग्राम के एक नए वर्जन पर काम कर रही है, जो केवल 13 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए होगा. कंपनी ने कहा था कि किशोरों के लिए सबसे सुरक्षित एक्सपीरियंस के साथ इंस्टाग्राम का नया वर्जन आएगा.

Please share this news

Check Also

एस्पिरिन दवा नहीं लेने की सलाह दे रहे हेल्थ जानकार

नई दिल्ली (New Delhi) . हार्ट अटैक या स्ट्रोक से बचने के लिए अक्सर लोग …