Friday , 16 April 2021

रेप और मर्डर केस में निर्दोष ने 8 साल काटी जेल

इंफाल . मणिपुर सरकार ने रेप और मर्डर केस में आरोप मुक्त हुए एक शख्स को सरकारी नौकरी का ऑफर दिया है. जानकारी के मुताबिक, शख्स को साल 2013 में रिसर्च स्टूडेंट के रेप और हत्या (Murder) के मामले में गिरफ्तार किया गया था. घटना के बाद आक्रोशित भीड़ ने उसका घर भी जला दिया था. न्यायिक प्रक्रिया में देरी के कारण शख्स को 8 साल जेल में गुजारने पड़े थे. हालांकि, अब कोर्ट ने उसे निर्दोष करार दिया है. कोर्ट का फैसला आने के बाद मुख्यमंत्री (Chief Minister) बिरेन सिंह ने कहा, ‘उसे सरकारी नौकरी दी जाएगी. सीएम बिरेन सिंह ने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि हमारे इस ऑफर को वो स्वीकार करेगा और अपनी आगे की जिंदगी अच्छे तरीके से बिता पाएगा.’

दरअसल, तौदम जिबल सिंह को रिम्स की पैथोलॉजी डिपार्टमेंट की एक जूनियर रिसर्च स्कॉलर के रेप और हत्या (Murder) के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. 5 अप्रैल 2013 को लड़की की लाश वांगलखेई लोकुल कनाल में मिली थी. घटना के दो दिन पहले से लड़की लापता बताई जा रही थी. इंफाल ईस्ट सेशन कोर्ट के जज एम मनोज कुमार ने तौदम जिबल सिंह को सभी आरोपों से मुक्त करते हुए निर्दोष करार दिया है. सीएम ने जिबल को सरकारी नौकरी देने के साथ ही परिवार के लिए नया घर बनवाने का भी वादा किया है. जिबल को वन विभाग में नौकरी दी जाएगी, क्योंकि उसके पिता भी इसी विभाग में कार्यरत रह चुके हैं.

Please share this news