Monday , 26 July 2021

भारतीय रेलवे अपने पुलों का बड़े पैमाने पर करता है थर्ड पार्टी ऑडिट

नई दिल्ली (New Delhi) . देशभर में भारतीय रेलवे (Railway)के पटरियों पर 1,50,390 पुलों का विशाल नेटवर्क है. इसके अतिरिक्त, लोगों की सुविधा के लिए सड़कों पर पटरियों को पार करने के लिए 3,449 रोड ओवरब्रिज (आरओबी) प्रदान किए गए हैं. यात्री/पैदलयात्री क्रॉसिंग के लिए 01.04.2020 तक 3,771 एफओबी सार्वजनिक/रेल उपयोगकर्ताओं की सुविधा के लिए रेलवे (Railway)द्वारा उपलब्ध करवाए हैं.

भारतीय रेलवे (Railway)निर्धारित अनुसूची के अनुरूप भारतीय रेलवे (Railway)अधिकारियों द्वारा रेलवे (Railway)पुलों/आरओबी/एफओबी के वार्षिक निरीक्षण और रखरखाव की एक अच्छी तरह स्थापित प्रणाली का अनुसरण करता है. 2018 में मौजूदा बुनियादी ढांचे पर अधिक विश्वास और विश्वसनीयता स्थापित करने के लिए पुल की स्थिति पर एक स्वतंत्र विशेषज्ञ विचार जानने के लिए 2018 में चिह्नित एवं महत्वपूर्ण पुलों/आरओबी/एफओबी का थर्ड पार्टी ऑडिट कराने का फैसला लिया गया.

विशेषज्ञ एजेंसियों द्वारा थर्ड पार्टी निरीक्षण का उद्देश्य महत्वपूर्ण घटकों की स्थिति पर पैनी नजर रखना है, जो संक्षारण संभावित क्षेत्र में प्रतिकूल रूप से प्रभावित हो सकता है. महत्वपूर्ण पुलों/आरओबी/एफओबी का थर्ड पार्टी ऑडिट विशेषज्ञ एजेंसियों जैसे; आईआईटी, एनआईटी, एसईआरसी आदि द्वारा किया जाता है. जोनल रेलवे (Railway)को सलाह दी गई थी कि वह पुल के सभी पहलुओं (एनडीटी परीक्षण सहित ताकत का आकलन, वर्तमान में लोडिंग के लिए डिजाइन पर्याप्तता, भौतिक स्थिति आदि जरूरी माना गया है) की विधिवत जांच को लेकर राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों से इनकी एक बार थर्ड पार्टी टेक्निकल ऑडिट करवाएं.

Please share this news