Tuesday , 27 October 2020

कोरोना संक्रमण में भारत दूसरे नंबर की दौड़ में, मौतों की संख्या 65 हजार के पार


नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना संक्रमण के मामले में भारत जल्द ही ब्राजील को पीछे छोड़ने वाला है. इस हफ्ते अगले दो-तीन दिन के भीतर भारत ब्राजील से आगे निकल सकता है. भारत में इस बीमारी से अब तक 65,412 लोगों की मौत हो गई है. इस प्रकार संक्रमण और मौत के मामले में भारत तीसरे स्थान पर है. हालांकि भारत में मृत्यु दर सबसे कम है. लेकिन संक्रमण की रफ्तार चिंताजनक हो चुकी है.

पिछले 5 दिनों से लगातार 70 हजार से ऊपर नए संक्रमित मिलने के बाद सोमवार (Monday) को कुछ राहत मिली जब नए संक्रमितों की संख्या 61 हजार 59 आई. पिछले लगभग 10 दिन के रिकॉर्ड को देखते हुए यह कम संख्या ही कही जाएगी. हालांकि प्रतिदिन दुनिया में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस संक्रमित भारत में ही मिल रहे हैं. यहां अब तक 36 लाख 80 हजार 995 लोगों को कोरोना संक्रमण हो चुका है. इनमें से 28 लाख 34 हजार 910 ठीक भी हो चुके हैं. देश में एक्टिव मरीज 7 लाख 80 हजार 70 हैं. देखा जाए तो देश में इतने आईसीयू बेड उपलब्ध नहीं हैं. लेकिन सुकून की बात यह है कि कोरोना से संक्रमित होने वाले 90% मरीज गंभीर मरीजों की श्रेणी में नहीं आते. उन्हें मामूली लक्षण रहते हैं, जिनका उपचार 10 – 15 दिनों में साधारण दवा से हो जाता है. फिलहाल गंभीर मरीजों की संख्या उतनी नहीं है कि भारत की स्वास्थ्य सेवाएं कम पड़ें. किंतु जैसी कि आशंका है आने वाले दिनों में प्रतिदिन ढाई लाख से अधिक नए संक्रमित मिल सकते हैं. ऐसी स्थिति में वेंटिलेटर वाले अथवा गंभीर मरीजों को संभालना कठिन हो जाएगा, क्योंकि उनकी संख्या बढ़ जाएगी.

इसलिए एकमात्र उम्मीद कोरोना का वैक्सीन ही है. फिलहाल भारत में वैक्सीन को लेकर अभी तक कोई ठोस पहल नहीं की गई है. सरकार (Government) वैक्सीन खरीदने की इच्छुक तो है, लेकिन वैक्सीन की उपलब्धता पर प्रश्नचिन्ह लगा हुआ है. दुनिया में सर्वाधिक वैक्सीन उत्पादित करने की क्षमता भारत के पास ही है. इसलिए वैक्सीन पर काम करने वाले सभी देश भारत की तरफ देख रहे हैं. जैसे ही कोई प्रभावी वैक्सीन आएगा उसका फार्मूला भारत में देकर वैक्सीन का उत्पादन किया जाएगा.

जहां तक संक्रमण का सवाल है, भारत में सोमवार (Monday) को महाराष्ट्र (Maharashtra) में 11,852, आंध्रप्रदेश में 10,004, तमिलनाडु में 5956, कर्नाटक (Karnataka) में 6495, उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में 4782, पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 2994, तेलंगाना में 1873, बिहार (Bihar)में 1306, दिल्ली में 1358, ओडिशा में 2602, गुजरात में 1280, राजस्थान (Rajasthan) में 1466, केरल में 1530, हरियाणा (Haryana) में 1450, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में 1532, पंजाब (Punjab) में 1466 और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 1103 नए संक्रमित मरीज मिले. बाकी राज्यों में संक्रमण की रफ्तार कम है और पीड़ितों की संख्या 1000 से नीचे आ रही है. यह आंकड़े बता रहे हैं कि कोरोना का संक्रमण तेज रफ्तार से बढ़ रहा है. देश के आर्थिक हालात इस बात की इजाजत नहीं दे रहे हैं कि अब लॉकडाउन (Lockdown) किया जाए. सरकार (Government) भी लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर पहले ही घोषणा कर चुकी है कि अब देश में कहीं भी लॉकडाउन (Lockdown) केंद्र की सहमति के बिना नहीं लगेगा. जैसे-जैसे बाजार और अन्य स्थान खुलेंगे, लोगों की भीड़ एकत्र होगी संक्रमण अवश्य तेजी से फैलेगा.