उदयपुर में चाइनीज मांझे से कटी 5 वर्षीय मासूम की गर्दन, 36 टांके आये, 3 यूनिट ब्लड चढ़ाया


-माता-पिता ने की अवैध रूप से बिक रहे चाइनीज मांझे की बिक्री करने वालों पर कार्रवाई की मांग

उदयपुर (Udaipur) . कई बार चाइनीज मांझा पक्षियों के साथ-साथ इंसानों के लिए भी खतरनाक साबित हो चुका है. इसको देखते हुए राजस्थान (Rajasthan)समेत देश के कई हिस्सों में चाइनीज मांझे पर प्रतिबंध लगा दिया गया है लेकिन बाजारों में यह धड़ल्ले से बिक रहा है.

लेकसिटी उदयपुर (Udaipur) में 5 वर्षीय एक मासूम की गर्दन चाइनीज मांझे से जबर्दस्त तरीके से कट लग गया. मासूम बच्ची को 36 टांके लगाने पड़े हैं. लोगों में जबर्दस्त आक्रोश है. चायनीज मांझे की शिकार हुई पांच वर्षीय अशना बानो पिता उमर फारूक के साथ बाइक पर आगे बैठकर अपनी दादी के घर से पारस तिराहे पर स्थित अपने घर पर आ रही थी. इसी दौरान छींपा कॉलोनी के पास चाइनीज मांझा हवा में लहराता हुआ आया और अशना की गर्दन को चीर दिया.

मासूम बच्ची मारे दर्द से चिल्लाने लगी. बेटी को लहूलुहान देखकर पिता ने बेटी को जैसे-तैसे अस्पताल पहुंचाया. वहां अशना की गर्दन पर 36 टांके लगाये गये हैं. बच्ची के तीन यूनिट से ज्यादा ब्लड तक चढ़ चुका है. मासूम अशना का इस समय हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. घटना की सूचना के बाद में बच्ची की मां भी अस्पताल पहुंच गई.

पीड़िता के माता और पिता दोनों अपनी बच्ची के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं. उन्होंने अवैध रूप से बिक रहे चाइनीज मांझे की बिक्री करने वालों पर कार्रवाई की मांग की है. इस घटना के बाद अतिरिक्त जिला कलेक्टर (Collector) शहर अशोक कुमार ने चाइनीज मांझा की बिक्री करने वालों पर कार्रवाई की बात की है.

Please share this news