Thursday , 3 December 2020

राजस्थान में ब्यूरोक्रेसी के लिए गले की फांस बन सकता है बीजेपी सांसद से टकराव


जयपुर (jaipur) . बीजेपी सांसदों का आरोप है कि राज्य की ब्यूरोक्रेसी सत्तारूढ़ दल के इशारे पर काम करते हुए अपनी मनमानी कर रही है. ब्यूरोक्रेसी की ओर से प्रोटोकॉल की अवहेलना से नाराज विपक्षी बीजेपी के सांसद (Member of parliament) जिला कलक्टर (District Collector)्स से लेकर से लेकर पुलिस (Police) अधीक्षकों के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं. मामले को लेकर नागौर सांसद (Member of parliament) हनुमान बेनीवाल ब्यूरोक्रेसी को संसद की विशेषाधिकार समिति तक घसीट चुके हैं. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत जोधपुर के अधिकारियों द्वारा उनका फोन नहीं उठाने की बात कह चुके हैं.

अब पाली सांसद (Member of parliament) पीपी चौधरी ने सीधे तौर पर मुख्य सचिव राजीव राजीव स्वरूप के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. पाली सासंद ने भी मामले को संसद की विशेषाधिकार समिति के समक्ष ले जाने की चेतावनी दी है. राज्य में सरकार (Government) बदलते ही ब्यूरोक्रेसी को भी बदलने की पुरानी रवायत रही है. ब्यूरोक्रेसी पर सत्तारूढ़ पार्टी के इशारे पर काम करने के आरोप लगते रहे हैं. पिछली बीजेपी सरकार (Government) के समय में भी ब्यूरोक्रेसी पर आरोप लगे थे. पिछली सरकार (Government) में मनमानी करने वाले अधिकारियों को गहलोत सरकार (Government) ने प्राइम पोस्टिंग से हटाकर ठंडी पोस्ट पर लगा दिया था. उल्लेखनीय है के राजस्थान (Rajasthan) में लोकसभा (Lok Sabha) की 25 में से 24 सीटों पर बीजेपी के सांसद (Member of parliament) हैं. वहीं नागौर में बीजेपी की सहयोगी पार्टी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल सांसद (Member of parliament) हैं.