Thursday , 24 June 2021

पंजाब में अपराधों से निपटने तैनात होंगे 3100 डोमेन विशेषज्ञ, 10 हजार जवानों की भी होगी भर्ती

चडीगढ़ . पंजाब (Punjab) सरकार ने राज्य में कानून व्यव्स्था को मजबूत करने के लिए जिला स्तर पर तकनीकी यूनिट, नारकोटिक्स यूनिट, सोशल मीडिया (Media) यूनिट और एंटी-साबोटेज (तोड़फोड़ निरोधक) यूनिट बनाने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि इस योजना के तहत डिजिटल और साइबर अपराध जैसे नये युग के अपराधों की तरफ ध्यान केंद्रित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि संगीन अपराधों से निपटने के लिए 3100 डोमेन विशेषज्ञों के अलावा सब-इंस्पेक्टर और कांस्टेबल के स्तर पर 10000 पुलिस (Police) कर्मचारी भर्ती किए जाएंगे. जिनमें से 33 प्रतिशत महिलाएं होंगी.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने बताया कि भर्ती किए जाने वाले विशेषज्ञ और पुलिस (Police) कर्मी लॉ, फॉरेंसिक, डिजिटल फॉरेंसिक, सूचना प्रौद्योगिकी, डाटा माइनिंग, साइबर सुरक्षा, खुफिया अध्ययन, मानव संसाधन प्रबंधन और विकास एवं सड़क सुरक्षा योजना और इंजीनियरिंग से संबंधित होंगे. उन्होंने बताया कि पंजाब (Punjab) डोमेन विशेषज्ञों की सेवाएं हासिल करने वाला देश का पहला राज्य होगा. डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि डोमेन विशेषज्ञों में तकरीबन 600 लॉ ग्रेजुएट, 450 क्राइम सीन जांचकर्ता, कानून, कॉमर्स, डेटा माइनिंग, डेटा एनॉलिसिस में तजुर्बे और विशेष योग्यता वाले 1350 आईटी विशेषज्ञ शामिल होंगे. इन्हें साइबर, वित्तीय व कत्ल के मामलों में जासूसी, सेक्स हमले और दुराचार के मामलों में को निपटाने के लिए तैनात किया जाएगा. इसके अलावा राज्य में 100 सब डिवीजनों में से प्रत्येक में साइबर क्राइम डिटेक्टिव भी लगाए जाएंगे.

राज्य के तीन पुलिस (Police) कमिश्नरेट और शहरी जिलों में फैमिली काउंसलिंग सेंटर स्थापित किए जाएंगे. विवाह एवं पारिवारिक झगड़े के मामलों का निपटारा करने के लिए राज्य के सभी 382 थानों में वुमन हेल्प डेस्क जल्द ही स्थापित कर दिए जाएंगे. डीजीपी ने बताया कि पंजाब (Punjab) पुलिस (Police) में 3400 महिला पुलिस (Police)कर्मियों की भर्ती भी की जाएगी. इन पुलिस (Police) मुलाजिमों में 300 महिलाओं को सब इंस्पेक्टर के तौर पर भर्ती किया जाएगा, जबकि 3100 महिलाओं को कांस्टेबल के तौर पर सेवा करने का मौका मिलेगा.

Please share this news