Saturday , 19 June 2021

विकसित मध्यप्रदेश बनाने को समर्पित हूँ : शिवराज

भोपाल (Bhopal) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मैं वैभवशाली, गौरवशाली, समृद्ध और विकसित मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के निर्माण के लिए स्वयं को पूर्णत: समर्पित करता हूँ. हम सबको मिलकर नये मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) का निर्माण करना है.

cm-minto-hall

चौहान अपने चौथे कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने पर मिंटो हाल में आयोजित जन-कल्याणकारी योजनाओं पर केन्द्रित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. कार्यक्रम में शिवराज सरकार के जन सेवा का एक साल पुस्तिका का विमोचन भी किया गया.

कार्यक्रम में वन मंत्री कुवंर विजय शाह, वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, जनजातीय कार्य तथा अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री सु मीना सिंह, राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा विज्ञान और प्रोद्यौगिकी मंत्री ओम प्रकाश सकलेचा, पर्यटन,संस्कृति एवं आध्यात्म मंत्री सु उषा ठाकुर और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव उपस्थित थे.

मंत्रि-परिषद के सदस्य, सांसद (Member of parliament) तथा विधायकों ने कार्यक्रम में वर्चुअली सहभागिता की.

चौहान ने राज्य स्तरीय कार्यक्रम में राहत राशि की द्वितीय किस्त के 1530 करोड़ रूपये, मुख्यमंत्री (Chief Minister) किसान कल्याण योजना 340 करोड़ रूपये, ग्रामीण पथ-विक्रेताओं को 60 करोड़ रूपये का ऋण उनके खातों में सिंगल क्लिक से जारी किया.

चौहान ने जन-जातीय कार्य विभाग द्वारा 219 करोड़ 75 लाख रूपये की लागत से निर्मित आठ कन्या शिक्षा परिसर भवनों तथा स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत 104 करोड़ 74 लाख रूपये की लागत से निर्मित 77 शाला भवनों और तीन छात्रावासों का वर्चुअल लोकार्पण किया.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने बड़वानी जिले में पाटी, निवाली, बड़वानी और सेंधवा तथा अलीराजपुर में सोंडवा, शिवपुरी (Shivpuri)जिला, बैतूल में भैंसदेही में और होशंगाबाद में पंवारखेड़ा के शिक्षा परिसर का लोकार्पण किया.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को पूरा करते मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में हर वर्ग के व्यक्ति की सहायता और उत्थान के लिए कार्य किया जा रहा है. विभिन्न योजनाओं में एक लाख 18 हजार करोड़ रूपये की सहायता सीधे प्रदेशवासियों के खातों में डाली गई. कोरोना के कठिन काल में 129 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूँ की खरीदी पर 25 हजार करोड़ रूपये किसानों के खातों में डाले गये.

चौहान ने 23 मार्च 2020 का स्मरण करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण की चुनौतीपूर्ण स्थितियों के बीच मैंने मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद की शपथ ली. इन कठिन परिस्थितियों में अटल जी की कविता हार नहीं मानूंगा मेरी प्रेरणा-स्रोत बनी.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि कोरोना का संकट अभी गया नहीं है. वायरस अभी जिन्दा है. इससे बचना जरूरी है और मास्क ही हमारी सुरक्षा है. इसके लिए अभियान आरंभ किया गया है. हमें यह समझना होगा कि कोरोना से 90 प्रतिशत बचाव मास्क से ही होता है. दूरी बनाये रखने के नियम का भी पालन करना आवश्यक है.


News 2021

Please share this news