Friday , 27 November 2020

पत्नी के शव को ठेलागाड़ी पर रखकर घर ले गया पति

करौली . करौली जिले के हिंडौन इलाके में दिल को दुख देने वाली तस्वीर सामने आई है. हिंडौन के युवक को अस्पताल से अपनी पत्नी के शव को घर ले जाने के लिए वाहन नहीं मिला,तब उसने शव को ठेले पर रखकर घर ले गया. इस दौरान उसके साथ उसके दो मासूम बच्चे बेटा और बेटी थे. इस दौरान लोग देखते रहे, लेकिन किसी ने उसकी मदद करने की जहमत नहीं की.

जानकारी के अनुसार फतेहपुर सीकरी का बबलू पत्नी और दो बच्चों के साथ हिंडौन के सुखदेवपुरा में किराए के मकान में रहता है. वह सिलाई करके अपनी आजीविका चलाता है. बुधवार (Wednesday) रात को अचानक उसकी पत्नी सरोज (34) को उल्टी हुई, ठेला गाड़ी में डालकर कस्बे के सामान्य अस्पताल लाया. वहां चिकित्सकों ने उस मृत घोषित कर दिया. अस्पताल से वह गोदी में अपनी पत्नी के शव को लेकर बाहर निकला,तब ठेलागाड़ी पर मां की राह देख रहे बच्चे उससे लिपट गए. उसके बाद बबलू अपनी पत्नी के शव को ठेले में ही रखकर घर ले गया.

वहीं हिंडौन के सामान्य अस्पताल के पीएमओ डॉ. नमोनारायण मीणा का कहना है कि महिला को उसके परिजन रात को 8.30 बजे अस्पताल लेकर आए थे. इमरजेंसी (Emergency) में मौजूद चिकित्सक ने परीक्षण के बाद महिला को मृत घोषित कर दिया. उन्होंने बताया कि परिजनों की ओर से अस्पताल प्रशासन से किसी प्रकार के वाहन या एम्बुलेंस की मांग नहीं की गई. परिजन महिला के शव को अपने स्तर से ही बिना पोस्टमार्टम करवाए अपने घर ले गए.