Tuesday , 27 October 2020

महाराष्ट्र, आंध्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, यूपी, में सर्वाधिक कोरोना संक्रमण और मौतें


नई दिल्ली (New Delhi) . महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक (Karnataka), उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh), तमिलनाडु में कोरोना से सर्वाधिक मौतें हुई हैं और कोरोना से सर्वाधिक संक्रमित पीड़ित भी इन तज्यों से मिल रहे हैं. देश की कुल कोरोना मौतों में से 70% सिर्फ इन 5 राज्यों में हुईं हैं.

महाराष्ट्र (Maharashtra) में देश की कुल कोरोना मौतों में से 37.14 प्रतिशत, तमिलनाडु में 10.89, कर्नाटक (Karnataka) में 8.98, आंध्र में 6.17 और उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में 5.46 प्रतिशत मौतें हुई हैं. यह जानकारी देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार (Tuesday) को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि देश के कुल कोरोना संक्रमितों में से 62% एक्टिव मामले भी इन तज्यों से हैं. इनमें महाराष्ट्र (Maharashtra) में देश के 27 प्रतिशत, आंध्रप्रदेश 11.08, कर्नाटक (Karnataka) में 10.98, उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh)- 7.03 और तमिलनाडु में देश के 5.80 प्रतिशत मामले हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार भारत से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने वाला बस एक ही देश अमेरिका है. 10 लाख से ज़्यादा टेस्ट पिछले एक हफ्ते में रोज़ाना हुए. 33 लाख से ज़्यादा मरीज़ ठीक हुए हैं. 23 मई तक 50 हज़ार लोग ठीक हुए थे, अब 33 लाख ठीक हो चुके हैं. देश में एक्टिव मामले कम हो रहे हैं. प्रति मिलियन मौत का आंकड़ा 53 है, दुनिया में यह 115 है. मृत्यु दर अगस्त के 2.15% से 1.70 प्रतिशत पर आ गई हैं. मंत्रालय के अनुसार 14 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में 5,000 से कम मामले हैं. इनमें लक्षदीप, दादरा नगर हवेली, अंडमान, मिज़ोरम, सिक्किम, लद्दाख, गोआ, चंडीगढ़, हिमाचल, पुड्डुचेरी शामिल हैं.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा कि टेस्टिंग ज़्यादा कर रहे हैं इसलिए भी मामले बढ़ रहे हैं, जहां भी शक होता है वहां टेस्ट कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अब टेस्टिंग ऑन डिमांड है, डॉक्टर (doctor) की प्रिस्क्रिप्शन की ज़रूरत नहीं है. पॉल ने कहा कि व्यवस्था खुलने से वायरस को ट्रेवल करने में आसानी हो रही है, लोग अब अनुशासन भी खो रहे हैं, विनती है कि मास्क ज़रूर पहने, दो ग़ज़ की दूरी बनानी है और एहतियात बरतें. रूस की वैक्सीन पर डॉ वी के पॉल ने कहा कि रूस ने बड़े पैमाने पर मैन्युफैक्चरिंग के लिए एप्रोच किया है. ट्रायल के लिए उनकी रिक्वेस्ट है, वो हमारे दोस्त हैं हमने इस बारे में कंपनियों को से बात की है, 3-4 कंपनियों ने रूचि दिखाई है.