Sunday , 11 April 2021

आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट नहीं होगी तो उदयपुर में होटल किराए नहीं मिलेगा

उदयपुर (Udaipur). जिला कलक्टर (District Collector) चेतन देवड़ा ने शनिवार (Saturday) शाम को जिला परिषद सभागार में होटल (Hotel) तथा टूर एंड ट्रेवल्स व्यवसायियों एवं व्यापार संघ के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की. बैठक में केरल (Kerala) और महाराष्ट्र (Maharashtra) सहित राजस्थान (Rajasthan)के सीमावर्ती 4 राज्यों से आने वाले यात्रियों (Passengers) पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिए. कलक्टर देवड़ा ने कहा कि विशेषकर केरल (Kerala), महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा (Haryana) , मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) व गुजरात (Gujarat) से उदयपुर (Udaipur) जिले में आने वाले पर्यटकों और यात्रियों (Passengers) के लिए यात्रा शुरू करने से पूर्व 72 घंटे की अवधि के दौरान करवाए गए आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी.

एयरलाइंस, होटल (Hotel) संचालकों, टूर ऑपरेटर और व्यापार संघ से चर्चा

कलक्टर ने होटल (Hotel) तथा टूर एंड ट्रेवल्स व्यवसायियों से भी चर्चा की. कलक्टर ने कहा कि होटलों में महाराष्ट्र, केरल (Kerala), पंजाब, हरियाणा (Haryana) , मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) व गुजरात (Gujarat) से आने वाले व्यक्ति को प्रवेश देने से पहले उसके आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य होगी. बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के किसी भी मेहमान को होटल (Hotel) में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. इसके लिए पर्यटन विभाग की एक टीम बनाई गई है, जो नियमित रूप से होटल (Hotel) में ठहरने वाले मेहमानों की सूचना की ऑडिट करेगी. यदि विशेष परिस्थितियों में इन छह राज्यों से कोई व्यक्ति बिना आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के होटल (Hotel) में ठहरता है तो होटल (Hotel) संचालक को गेस्ट का आरटीपीसीआर टेस्ट करवाना होगा और जब तक निगेटिव रिपोर्ट प्राप्त नहीं हो जाती तब तक वह व्यक्ति होटल (Hotel) के कमरे में ही रहेगा. यदि होटल (Hotel) में ठहरने के बाद किसी व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आती है तो होटल (Hotel) संचालक को तुरंत इसकी जानकारी जिला प्रशासन को देनी होगी. ऑनलाइन बुकिंग के दौरान भी महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से आने वाले व्यक्ति को आरटीपीसीआर रिपोर्ट देनी होगी, तभी होटल (Hotel) में कमरा बुक होगा.

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव तो ही कर सकेंगे हवाई यात्रा

कलक्टर देवड़ा ने एयरपोर्ट प्रशासन को निर्देश दिए कि एयरलाइंस कंपनियां महाराष्ट्र, केरल (Kerala), पंजाब, हरियाणा (Haryana) , मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) व गुजरात (Gujarat) से आने वाले उदयपुर (Udaipur) आने वाले यात्रियों (Passengers) की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लेने के बाद ही यात्रियों (Passengers) को विमान में प्रवेश की अनुमति दें. कलक्टर ने डबोक एयरपोर्ट पर यात्रियों (Passengers) की स्क्रीनिंग और सैंपलिंग व्यवस्था चाक-चौबंद रखने को कहा.

प्राइवेट बसों पर भी प्रशासन की रहेगी नजर

जिला परिवहन अधिकारी को टूर एंड ट्रेवल्स ऑपरेटर के साथ सामंजस्य स्थापित कर यात्रियों (Passengers) की स्क्रीनिंग और सैम्पलिंग व्यवस्था पुख्ता करने के निर्देश दिए. विशेष तौर पर महाराष्ट्र, केरल (Kerala), पंजाब, हरियाणा (Haryana) , मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) व गुजरात (Gujarat) से आने वाले यात्रियों (Passengers) की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट होने पर ही उदयपुर (Udaipur) जिले में प्रवेश की अनुमति देने के निर्देश दिए. कलक्टर ने कहा कि टैक्सी चालक और प्राइवेट बस ऑपरेटर भी कोविड प्रोटोकॉल की पालना में लापरवाही न बरतें.

मिलकर करेंगे मुकाबलाः एसपी राजीव पचार

बैठक में पुलिस (Police) अधीक्षक डॉ. राजीव पचार ने कहा कि एक साल पहले मार्च के महीने में ही लॉकडाउन (Lockdown) लगा था. वैसी ही परिस्थितियां दुबारा न झेलनी पडे़ इसके लिए हम सब को साथ मिलकर कोरोना के विरुद्ध जंग लड़नी होगी. अभी तक सिविल सोसायटी का पूरा सहयोग मिला है और आशा करते हैं कि आगे भी हर आदमी पुलिस (Police)-प्रशासन के साथ मिलकर कोरोना महामारी (Epidemic) का मुकाबला करेगा. बैठक में जिला पुलिस (Police) अधीक्षक डॉ. राजीव पचार, एडीएम प्रशासन ओ.पी.बुनकर, एडीएम सिटी अशोक कुमार, यूआईटी सचिव अरूण हसीजा, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी प्रकाश सिंह राठौड़, एयरपोर्ट निदेशक नंदिता भट्ट, टूर एंड ट्रेवल्स एसोसिएशन के अध्यक्ष व उपमहापौर पारस सिंघवी, होटल (Hotel) संस्थान के अध्यक्ष सुभाष राणावत व व्यापार संघ के प्रतिनिधि उपस्थित थे.

चिकित्सा विभाग भी हुआ मुस्तैद

चिकित्सा विभाग ने अब संक्रमण को और अधिक फैलने से रोकने की तैयारियां शुरू कर दी है. शनिवार (Saturday) को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने सीएमएचओ कार्यालय में चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना संक्रमण से निपटने हेतु रूपरेखा तैयार की. डॉ.खराड़ी ने बताया कि जिले में संक्रमण और अधिक ना फैले इसके लिए प्रयास युद्ध स्तर पर शुरू कर दिए गए हैं. जिले की सभी सर्वे टीमों को एक्टिव कर दिया गया है जो घर-घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग का कार्य करेंगी. बैठक के दौरान रैपिड रिस्पांस टीमों का भी गठन कर दिया गया है जिसके अनुसार डॉ एस एल बामणिया को शहर प्रभारी कोविड, डॉ अंशुल मट्ठा डीटीओ उदयपुर (Udaipur) को समस्त राजकीय एवं निजी चिकित्सालयो का कोविड नोडल अधिकारी, डॉक्टर (doctor) अंकित जैन आरसीएचओ उदयपुर (Udaipur) को लॉजिस्टिक प्रबंधन कार्य, डॉ विकास कुलहरी को सैंपलिंग प्रभारी, डॉ विकास मीणा डीपीओ को वाहन प्रभारी, डॉक्टर (doctor) जीएस राव डीपीएम को ग्रामीण क्षेत्र रिपोर्टिंग प्रभारी, श्रीमती डिंपल सोलंकी को शहरी क्षेत्र रिपोर्टिंग प्रभारी, डॉक्टर (doctor) शैलेंद्र चुंडावत को होम आइसोलेशन प्रभारी नियुक्त किया गया है. इसी के साथ डॉक्टर (doctor) मनु मोदी को ब्लॉक वाइज केसेस के डिस्ट्रीब्यूशन की लाइन लिस्ट एवं डॉ सत्यनारायण वैष्णव को कोविड की दैनिक समस्त रिपोर्ट सीएमएचओ कार्यालय एवं निदेशालय जयपुर (jaipur)भिजवाने हेतु भी निर्देशित किया गया है. उक्त सभी टीमें उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ राघवेंद्र राय के निर्देशन में कार्य करेंगी.

Please share this news