हिमाचल- टीकाकरण के आंकड़े विरोधाभासी, राज्य सरकार श्वेत पत्र जारी करे : दीपक शर्मा – Daily Kiran
Sunday , 24 October 2021

हिमाचल- टीकाकरण के आंकड़े विरोधाभासी, राज्य सरकार श्वेत पत्र जारी करे : दीपक शर्मा

शिमला (Shimla) . हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)की जयराम ठाकुर भाजपा नीत सरकार पर कांग्रेस ने करोना टीकाकरण को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस प्रवक्ता दीपक शर्मा ने कहा कि वैक्सीनेशन के आंकड़े विरोधाभासी हैं. 2011 कि जनगणना के आधार पर प्रदेश की आबादी से सरकारी आंकड़े मेल नहीं खाते हैं. सरकार का यह कहना कि प्रदेश के सभी नागरिकों को वेक्सीनेट कर दिया गया है. पूर्णतः हक़ीक़त से परे है. दीपक शर्मा ने आज भाजपा सरकार पर लगाए. उन्होंने कहा कि सरकार ने वैक्सिनेशन के लिए आंकड़े किस आधार पर जुटाए हैं. यह स्पष्ट करना चाहिए. इस संबंध में सरकार श्वेत पत्र जारी कर स्थिति स्पष्ट करे. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश में अभी बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्होंने वेक्सीन नहीं ली है.

सरकारी आंकड़ों के अनुसार जो जनसंख्या ज़िला बार दर्शाई जा रही है वह जनगणना के आंकड़ों से मेल नहीं खाती है. उन्होंने कहा कि बहुत से लोग प्रदेश से बाहर रहते हैं लेकिन सरकारी आंकड़ों के अनुसार प्रदेश के सभी नागरिकों को सरकार ने वेक्सीनेट किया है. यह हक़ीक़त से परे है.

दीपक शर्मा ने कहा कि सरकार झूठे आंकड़े पेश कर मात्र राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रही है. करोना से निपटने के बजाय सरकार अपनी पीठ खुद थपथपाने में लगी है. कांग्रेस नेता ने कहा कि जब तक सरकार श्वेत पत्र जारी नहीं करती तब तक शंका और विरोधाभास की स्थिति बनी रहेगी. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि करोना संक्रमण बारे सरकार गम्भीर नहीं है. प्रदेश के हमीरपुर, कांगड़ा, सोलन ज़िला में हालात ठीक नहीं हैं. जिस तरह से करोना महामारी (Epidemic) के मामले बढ़ने लगे हैं उसको देखते हुए सरकार को विशेष कदम उठाने की आवश्यकता है. लेकिन सरकार मात्र राजनीतिक लाभ और वोट बैंक (Bank) की राजनीति में मशगूल है. उन्होंने कहा कि जिस तरह करोना महामारी (Epidemic) की दूसरी लहर में सरकार की लापरवाही का खमियाजा प्रदेश की जनता ने भुगता उसी तरह अब भी अगर करोना विस्फोट हुआ तो उसके लिए सरकार की लापरवाही ज़िम्मेदार होगी.

दीपक शर्मा ने कहा कि वैक्सिनेशन के नाम पर जो खेल खेला जा रहा है यह प्रदेश की वास्तविक स्थिति से कोसों दूर है. उन्होंने कहा कि सरकार करोना रूपी आपदा को लाभ के अवसर के रूप में इस्तेमाल कर रही है जिसके लिए कांग्रेस पार्टी सरकार की कड़ी आलोचना करती है. उन्होंने कहा कि यह खेद का विषय है कि कांग्रेस पार्टी ने विपक्षी दल होने के नाते जो सुझाव-चेतावनियां सरकार को दीं, सरकार ने उन्हें आलोचना कह कर दरकिनार कर दिया. जबकि अगर सरकार कांग्रेस द्वारा दिए गए सुझावों-चेतावनियों पर अम्ल करती तो प्रदेश को लाभ होता और जनता को इस संकट में इस कदर जान-माल का नुकसान नहीं होता.

Please share this news

Check Also

आर्यन खान ड्रग्‍स केस में नया मोड़! गवाह बोला 18 करोड़ में हुई डील

मुंबई (Mumbai) , . हाल ही में नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (एनसीबी) द्वारा क्रूज ड्रग्‍स पार्टी …