Sunday , 11 April 2021

हिमाचल में 2.4 तीव्रता से महसूस हुए भूकंप, कोई नुकसान नहीं

शिमला (Shimla) . हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)के चंबा जिले में सुबह के समय भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 2.4 मापी गई है. हालां‎कि, इसमें किसी भी तरह के जानमाल का नुकसान नहीं हैं. कम तीव्रता होने के चलते किसी को भूकंप महसूस नहीं हुआ और लोग वैसे भी सोए हुए थे.

इससे पहले, हिमाचल के बिलासपुर (Bilaspur) में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. 14 फरवरी को आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.2 मापी गई थी. भूकंप का केंद्र बिलासपुर (Bilaspur) में जमीन के 10 किलोमीटर नीचे था. इस दौरान भी जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ था. जानकारी के मुता‎बिक, हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)के इतिहास में रिक्टर स्केल पर 4 या उससे अधिक की तीव्रता के भूकंप 80 से ज्यादा बार अनुभव किए गए है.

बीआईएस भूकंपीय जोनिंग मानचित्र के अनुसार हिमाचल के 5 जिलों में खतरा सबसे ज्यादा है. इनमें चंबा जिले का 53.2%, हमीरपुर का 90.9%, कंगड़ा का 98.6%, कुल्लू का 53.1% और जिले मंडी का 97.4 फीसदी क्षेत्र भूकंप की दृष्टि से हाई रिस्क जोन में है. शिमला (Shimla) जिला जोन 4 में है. प्रदेश में 4 अप्रैल 1905 में कांगड़ा में आए भूकंप से मची तबाही को कौन भूल सकता है. 7.8 तीव्रता के इस भूकंप में 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई और 53 हजार से ज्यादा मवेशी मारे गए. वहीं एक लाख से ज्यादा घर नष्ट हो गए और अरबों की संपत्ति का नुकसान हो गया. 19 जनवरी 1975 किन्नौर में 6.8 की तीव्रता के भूकंप से 60 लोगों की मौत हो गई, 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए और 2 हजार घर तबाह हो गए.

Please share this news