कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट

मुंबई, 5 फरवरी . शेयर बाजार में कारोबार के अंतिम घंटों के दौरान सोमवार को भारी गिरावट देखी गई. सेंसेक्स 354.21 अंक या 0.49 प्रतिशत गिरकर 71,731.42 पर और निफ्टी 82.10 अंक या 0.38 प्रतिशत गिरकर 21,771.70 पर बंद हुआ.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि जनवरी के लिए मजबूत अमेरिकी नौकरी डेटा से संकेत मिला कि आने वाले समय में यूएस फेड से दर में कटौती की उम्मीद है. नायर ने कहा, यह अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में 4 फीसदी से अधिक के तेज उछाल से पता चलता है, जिसने हाई वैलुएशन के बीच निवेशकों को अंतरिम बजट के बाद की रैली से मुनाफावसूली करने के लिए प्रेरित किया.

उन्होंने कहा, हालांकि, कच्चे तेल की कीमतों में मौजूदा गिरावट से समर्थन मिला है.

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा अनुसंधान प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा कि निफ्टी में आखिरी घंटे की बिकवाली के कारण सूचकांक 82 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ.

सेक्टर के लिहाज से देखें तो यह मिली-जुली स्थिति थी और तेल एवं गैस, फार्मा और ऑटो में खरीददारी देखी गई. उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2024 की तीसरी तिमाही कॉर्पोरेट आय अब तक 33 निफ्टी कंपनियों के अनुरूप रही है, जिन्होंने सालाना आधार पर 21 प्रतिशत (1 फरवरी तक) का शुद्ध लाभ दर्ज किया.

सकारात्मक पक्ष पर, भारत की सर्विस पीएमआई छह महीने के उच्चतम स्तर 61.8 पर पहुंच गई. आरबीआई नीति बैठक मंगलवार को शुरू होगी और इसमें यूएस फेड के अनुरूप यथास्थिति बनाए रखने की उम्मीद है.

कुल मिलाकर, बाजार कॉन्सोलिडेट हो रहा है. उन्होंने कहा, बाजार चल रहे नतीजों से संकेत ले रहा है जिससे बहुत अधिक स्टॉक-विशिष्ट कार्रवाई हो रही है जो जारी रहने की संभावना है.

/

Check Also

भारत ने पहली बार समुद्र के रास्ते अमेरिका को किया अनार का निर्यात

नई दिल्ली, 1 मार्च . कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) के …