Wednesday , 2 December 2020

कोरोना टीका के वितरण में स्वास्थ्यकर्मियों और बुजुर्गों को मिलेगी प्राथमिकता : हर्षवर्धन


नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्वास व्यक्त किया कि अगले तीन-चार महीनों में कोविड-19 (Covid-19) का टीका तैयार हो जाएगा. सरकार ने सावधानीपूर्वक प्राथमिकता योजना तैयार की है जिसमें स्वास्थ्य कर्मी और 65 साल की उम्र से अधिक के लोग सूची में सबसे ऊपर हैं. हर्षवर्धन फिक्की एफएलओ द्वारा आयोजित एक वेबिनार को संबोधित कर रहे थे.

‘कोविड के दौरान और उसके बाद बदले स्वास्थ्य प्रतिमान’ विषयक वेबिनार में हर्षवर्धन ने कहा कि अगले साल जुलाई-अगस्त तक 25-30 करोड़ लोगों के लिए 40-50 करोड़ खुराक उपलब्ध होंगी. हर्षवर्धन ने कहा- यह स्वाभाविक है कि टीका वितरण में प्राथमिकता दी जाएगी. जैसा कि आप जानते हैं कि स्वास्थ्य कर्मी, जो कोरोना योद्धा हैं, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी, फिर 65 साल से अधिक उम्र के लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी, फिर 50-65 साल की उम्र वाले लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी, इसके बाद 50 साल से कम उम्र के लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी जिन्हें अन्य बीमारियां हैं. उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति इस घातक वायरस से छोटी-छोटी सावधानियां जैसे अच्छी गुणवत्ता का मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना और हाथों की सफाई से बचाव कर सकता है.

हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ एक एकीकृत प्रतिक्रिया प्रणाली भी शुरू की गई है. सभी प्रमुख टीकों के लिए क्लीनिकल परीक्षणों की मेजबानी भी की जाएगी. करीब 20 टीके विकास के विभिन्न चरणों में हैं. सीरम इंस्टीट्यूट के ऑक्सफोर्ड टीके के तीसरे चरण का परीक्षण लगभग पूरा होने वाला है, जबकि भारत बायोटेक और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद आईसीएमआर के स्वदेश में विकसित टीके के तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण शुरू हो गए हैं.