Wednesday , 23 June 2021

कोरोना पॉजिटिव पार्षद को स्वास्थ्य विभाग ने बताया निगेटिव, मचा हड़कंप

जालंधर . जालंधर में स्वास्थ्य ‎विभाग की लापरवाही सामने आई है. ‎विभाग ने नगर निगम के कांग्रेस पार्षद बलराज ठाकुर के कोरोना पॉ‎जि‎टिव होने के बावजूद ‎निगे‎टिव बताया है. इसके चलते वह लगातार दो दिन आम लोगों और परिजनों के संपर्क में रहे. दरअसल, बलराज की पिछले सप्ताह से तबीयत कुछ खराब चल रही थी, जिसके चलते उन्होंने एहतियात के तौर पर इस सप्ताह सोमवार (Monday) को अपना कोरोना (Corona virus) टेस्ट सिविल अस्पताल जाकर करवाया और उन्हें मंगलवार (Tuesday) तक कोरोना रिपोर्ट देने की बात कही गई.

इस क्रम में मंगलवार (Tuesday) को स्वास्थ्य विभाग की ओर से पार्षद बलराज ठाकुर के पास एक मैसेज आया, जिसमें साफ लिखा था कि उनकी कोरोना (Corona virus) की रिपोर्ट ‎निगेटिव आई है. इस मामले में निश्चिंत हो चुके पार्षद बलराज ठाकुर ने मंगलवार (Tuesday) और बुधवार (Wednesday) आम लोगों से मिलने व परिवारजनों के संपर्क में रहने का सिलसिला चालू रखा क्योंकि उन्हें विश्वास था कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से आया मैसेज सही ही होगा. मगर, जब उन्हें मीडिया (Media) के माध्यम से पता चला कि उनकी कोरोना (Corona virus) रिपोर्ट पॉजिटिव आई है तो उनके प‎रिवार में हड़कंप मच गया. इस पर पार्षद बलराज ठाकुर ने सिविल अस्पताल के एक रिटायर्ड डॉक्टर (doctor) को फोन किया, जिन्होंने अपने स्तर पर प्रयास करके रिकॉर्ड में से पार्षद बलराज की कोरोना (Corona virus) रिपोर्ट पता की. उस डॉक्टर (doctor) ने पार्षद बलराज के व्हाट्सएप पर जो कोरोना (Corona virus) रिपोर्ट फ़ारवर्ड की, उसमें पार्षद बलराज ठाकुर को कोरोना पॉजिटिव बताया गया था.

बता दें ‎कि रिपोर्ट और मैसेज एक ही सैंपल के हैं. अब इस मामले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की जांच की जानी चाहिए कि किस आधार पर पार्षद को पहले ‎निगेटिव होने का मैसेज भेजा गया और 2 दिन बाद जब उन्होंने अपनी रिपोर्ट पता करवाई तो वही रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है.

Please share this news