Monday , 25 January 2021

कोविड की दूसरी लहर के लिए स्वास्थ्य विभाग सतर्क,उठा रहा आवश्यक कदम


झाँसी, . कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर पूरी सतर्कता बनाए रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने अपनी तैयारी कर ली है. एल-1 इकाइयां जो बंद हो चुकी थी उनको फिरसे शुरू किया जा रहा है. इनमें निर्धारित टीमों के नोडल अधिकारी की प्रतिदिन समीक्षा हो रही है. अभी जनपद का हाल ठीक है लेकिन यदि अचानक से मरीजों में बढ़ोत्तरी हुई तो इसके लिए टीम तैयार है. यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ॰ जी के निगम ने दी.

एंबुलेंस (Ambulances) सुविधाओं को भी बढ़ा दिया गया है. बीच में मरीज कम होने की वजह से पांच 108 एंबुलेंस (Ambulances) कार्य में लगी थी अब इनको आठ कर दिया गया है. साथ ही जो निजी अस्पतालों की एंबुलेंस (Ambulances) को अधिकृत किया गया था उनको भी सूचना भेज दी गयी है, कि यदि आवश्यकता पड़ी तो उन एंबुलेंस (Ambulances) को प्रयोग में लाया जाएगा. ऑक्सीज़न सिलेन्डर भी तैयार कर लिए गए है. एल-2 इकाई के दो डॉक्टर (doctor) को मेडिकल कॉलेज मेरठ (Meerut) (Meerut) में ट्रेनिंग के लिए भेजा गया था, अब वही बाकी स्टाफ को भी गंभीर कोविड मरीजों के बचाव के लिए ट्रेनिंग दे रहे हैं.

टार्गेट सैम्पलिंग के जरिये जनपद में कोविड जांच की जा रही है, इसके पहले फेज़ में झुग्गी झोपड़ी के लोगों को टार्गेट करके उनकी जांच की गयी थी, उम्मीद थी वहां से बहुत से केस मिलेंगे, जबकि जनपद में ऐसा नही हुआ. अब सड़कों पर रेडियां लगाने वाले, फल सब्जी बेचने वालों की जांच की जा रही है. इसके बाद स्कूल कॉलेज में कार्यरत स्टाफ़ फिर कार्यालयों में काम कर रहे स्टाफ की जांच की जाएगी. 28, 29, 30 नवम्बर को बाज़ारों में कार्य कर रहे लोगों की जांच होंगी. साथ ही जिन क्षेत्रों से ज्यादा कोविड मरीज निकले है उनको चिन्हित कर अभियान चलाकर कोविड जांच की जाएगी. सीएमओ का कहना है कि सरकार पहले से एक कदम आगे बढ़कर कार्य कर रही है, जिससे कि कोविड की इस लहर को बढ्ने से रोका जा सके.

Please share this news