Monday , 26 July 2021

पमरे की बड़ी उपलब्धि

जबलपुर, 19 मार्च . पश्चिम मध्य रेलवे (Railway)ने एक खास उपलब्धि हासिल की है, उसने चालू वित्तीय वर्ष की समाप्ति के पहले ही रोड ओवर ब्रिज (आरओबी), रोड अंडर ब्रिज (आरयूबी) व एलएचएस का निर्माण कम्पलीट कर दिया. इंजीनियरिंग विभाग द्वारा किये गये इस कार्य की सराहना की जा रही है.

रेलवे (Railway)बोर्ड द्वारा पश्चिम मध्य रेल को वर्ष 2020-21 में 35 आरयूबी/एलएचएस और 15 आरओबी निर्माण कार्य करने का लक्ष्य दिया गया था. पश्चिम मध्य रेल ने उक्त लक्ष्य को फरवरी 2021 में ही हासिल कर लिया है. आरओबी के निर्माण होने से समपार फाटकों का े बंद कर दिया गया है, जिससे आम जनता को आवागमन में सुविधा के साथ-साथ समय की भी बचत हो रही है, साथ ही रेल दुर्घटनाओं में कमी आई है. इसके अलावा ट्रेनों की गति तथा रेलखंड की क्षमता में वृद्धि हुई है, जिससे ट्रेन परिचालन सुगम और संरक्षित हुआ है.

इसी प्रकार पश्चिम मध्य रेल में आरयूबी/एलएचएस के निर्माण कार्य को आधुनिक प्रणाली के साथ त्वरित गति से पूर्ण किये गये हैं. आधुनिक प्रणाली के कारण आरयूबी/एलएचएस के निर्माण कार्य में समय की बचत होती है, जिससे बहुत ही कम समय में इनका निर्माण संभव होता है. पश्चिम मध्य रेल द्वारा रेलवे (Railway)बोर्ड से प्राप्त लक्ष्य का समय से पहले हासिल करते हुए रेल परिचालन को सुरक्षित एवं संरक्षित करने में अपना महत्वपूर्ण एवं सराहनीय योगदान दिया है. इनके निर्माण से पश्चिम मध्य रेल के परिक्षेत्र से गुजरने वाली ट्रेनों का परिचालन सुगम एवं सुरक्षित हो गया है. आरओबी और आरयूबी का निर्माण भारतीय रेल सुरक्षित एवं संरक्षित रेल यातायात में बहुमूल्य सहायक सिद्ध हो रहे है.

Please share this news