Tuesday , 19 January 2021

कैदियों की सजा एक माह कम करेगी सरकार

कोरोना वॉरियर्स जेलकर्मी सम्मानित, नव-निर्मित आवासीय परिसर लोकार्पित

भोपाल (Bhopal) . मुसीबत का आना पार्ट ऑफ लाइफ है और मुसीबत से बाहर आ जाना आर्ट ऑफ लाइफ है. जेलों में बंद दंडित बंदियों की सजा में एक माह की कमी कर उन्हें 30 दिन पहले रिहा किया जाएगा. गृह एवं जेल मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने ये बातें कोरोना वॉरियर्स जेलकर्मियों के लिये आयोजित सम्मान समारोह में सेंट्रल जेल भोपाल (Bhopal) में कही.

narottam-prisoners

उच्च सुरक्षा इकाई के लिए 3 करोड़ की लागत से निर्मित आवासीय परिसर का लोकार्पण भी सेंट्रल जेल में किया गया. जेल परिसर में मंत्री डॉ. मिश्रा ने महिला बन्दियों की नन्हीं बालिकाओं को उपहार भेंट किये. सेन्ट्रेल जेल के सभागार में मंत्री डॉ. मिश्रा और मंत्री सारंग ने दिवंगत जेल उप अधीक्षक त्रिपाठी और गैस त्रासदी के मृतकों को श्रद्धांजलि दी.

डॉ. मिश्रा ने कहा कि सेंट्रल जेल भोपाल (Bhopal) के सांस्कृतिक भवन का सभागार अब जेल प्रहरी स्व. रमाकांत यादव सभागार के नाम से जाना जायेगा. उन्होंने छिंदवाड़ा के डिप्टी जेलर राजकुमार त्रिपाठी के कोरोना से दिवंगत होने पर उनकी धर्मपत्नी श्रीमती प्रीति त्रिपाठी को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान करने के निर्देश दिये.

डॉ. मिश्रा ने कहा कि पुलिस (Police)कर्मियों की तरह ही जेलकर्मियों के लिये भी सम्पूर्ण प्रदेश में सर्वसुविधा-युक्त आवासगृहों का निर्माण किया जायेगा. मंत्री डॉ. मिश्रा ने अपने संबोधन में कहा कि 11 से 24 दिसंबर तक प्रदेश में जेल विभाग के 282 पदों की पूर्ति के लिये परीक्षा आयोजित की जायेगी.

उन्होंने जेल विभाग के कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि कोरोना की महामारी (Epidemic) के दौरान प्रदेश के 45 हजार से अधिक बंदियों का बेहतर प्रबंधन करते हुए एक भी कोरोना पीड़ित का काल-कवलित नहीं होना जेल विभाग की बेहतर कार्यप्रणाली को प्रदर्शित करता है.


Please share this news