Saturday , 28 November 2020

कोरोना योद्धाओं के लिए सरकार का इनाम


नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्र सरकार (Central Government)(Central Government) ने कोरोना वारियर्स के बच्चों के लिए केंद्रीय कोटे से एमबीबीएस बीडीएस की पांच सीटें रिजर्व करने का फैसला किया है. इसके तहत उम्मीदवारों के चयन के लिए वार्ड ऑफ कोरोना वारियर्स की एक नई श्रेणी जोड़ी जाएगी. यह व्यवस्था इसी शैक्षणिक सत्र यानी 2020-21 सत्र से लागू होगी. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. हर्षवर्धन ने यह ऐलान किया है.

हर्षवर्धन ने कहा कि यह कदम कोविड रोगियों के उपचार और प्रबंधन में कोविड वॉरियर्स के योगदान को ध्यान में रखते हुए उन्हें सम्मान देने के लिए उठाया गया है. इससे कर्तव्य और मानवता के लिए निस्वार्थ समर्पण के साथ सेवा करने वाले सभी कोविड वॉरियर्स के महान बलिदान का सम्मान होगा. बयान के अनुसार, केंद्रीय कोटे से पांच एमबीबीएस सीटें उन कोविड वॉरियर्स के बच्चों के लिए रखी गई हैं जिन्होंने कोरोना ड्यूटी के दौरान अपनी जांन गंवाई. इनमें निजी अस्पताल के कर्मचारी और राज्यों केंद्रीय अस्पतालों केंद्रीय राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के स्वायत्त अस्पतालों, एम्स और राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों कोविड-19 (Covid-19) से जुड़ी जिम्मेदारियों के लिए केंद्रीय मंत्रालयों द्वारा चिहि्नत किए गए अस्पतालों के सेवानिवृत्त/ स्वयंसेवक स्थानीय शहरी निकाय अनुबंधित दैनिक वेतन कर्मचारी सभी शामिल हैं.

उन्होंने साथ ही कहा कि राज्य केद्रशासित प्रदेशों की सरकार इस श्रेणी के लिए पात्रता को प्रमाणित करेगी. मंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने कोविड वॉरियर के लिए 50 लाख रुपए के बीमा पैकेज की घोषणा करते हुए कोविड वॉरियर की परिभाषा तय की है जो इस मामले में भी लागू होगी. उम्मीदवारों का चयन मेडिकल काउंसिल कमेटी एमसीसी ऑनलाइन आवेदन के जरिए करेगी. यह चयन इसी साल से नीट-2020 परीक्षा में प्राप्त रैंक के आधार पर होगा.