Thursday , 3 December 2020

Government of India and NDB ने 500 मिलियन डॉलर के किये समझौते


नई दिल्ली (New Delhi) . भारत सरकार, आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम लिमिटेड और न्यू डेवलपमेंट बैंक (Bank) (एनडीबी) ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में तेज, विश्वसनीय, सुरक्षित और आरामदायक सार्वजनिक परिवहन प्रणाली प्रदान करने के लिए ‘दिल्ली-गाजियाबाद (Ghaziabad) -मेरठ (Meerut) (Meerut) क्षेत्रीय त्वरित परिवहन प्रणाली परियोजना’ को 500 मिलियन डॉलर (Dollar) का ऋण देने के समझौते पर हस्ताक्षर किए. एनसीआर, दुनिया के सबसे बड़े शहरी समूहों और भारत के एक प्रमुख आर्थिक केन्द्रों में से एक है. सार्वजनिक परिवहन के कुशल विकल्पों की कमी के कारण, एनसीआर में निजी वाहनों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है.

एनसीआर के दिल्ली-गाजियाबाद (Ghaziabad) -मेरठ (Meerut) (Meerut) कॉरिडोर में अनुमानित दैनिक यात्री यातायात 0.69 मिलियन है, जिनमें से 63% आवागमन के लिए निजी वाहनों का उपयोग करते हैं. ट्रैफिक की भीड़ के कारण, दिन के व्यस्त समय (पीक आवर्स) के दौरान सड़क मार्ग से दिल्ली और मेरठ (Meerut) (Meerut) के बीच यात्रा करने में लगभग 3 से 4 घंटे का समय लगता है. वाहनों की संख्या में तेज वृद्धि ने एनसीआर को दुनिया के सबसे प्रदूषित क्षेत्रों में से एक बना दिया है. अनुमान है कि 2030 तक एनसीआर दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला शहरी समूह बन जायेगा, जिससे आवास, जल आपूर्ति, बिजली और परिवहन जैसे बुनियादी ढांचे पर दबाव बढ़ेगा.

दिल्ली सहित एनसीआर क्षेत्र में सतत शहरी विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने में त्वरित परिवहन प्रणाली सहायता प्रदान करेगी. यह ऐसी प्रक्रियाओं की शुरुआत करेगी, जो भावी पीढ़ियों के लिए पर्यावरण संरक्षण के साथ स्थायी आर्थिक और सामाजिक विकास को सक्षम बनाएगी. पर्यावरण –अनुकूल और बहुत कम उत्सर्जन करने वाली आरआरटीएस, तेज गति (औसत गति 100 किमी प्रति घंटा) के साथ कई गुना (guna) अधिक लोगों को ले जाने में सक्षम है और यह भूमि पर सिर्फ 3 मीटर का जगह लेगी. परिणामस्वरूप सड़कों की भीड़ में कमी आयेगी.

यह एनसीआर के परिवहन क्षेत्र से होने वाले कुल उत्सर्जन को भी बहुत कम कर देगी. इस समझौते पर भारत सरकार की ओर से वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग के संयुक्त सचिव बालदेव पुरुषार्थ; आवासन और शहरी मामलों के मंत्रालय की ओर से जनार्दन प्रसाद; राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम लिमिटेड की ओर से प्रबंध निदेशक विनय कुमार सिंह और एनडीबी की ओर से उपाध्यक्ष व मुख्य परिचालन अधिकारी शियान झू ने हस्ताक्षर किए.