सर्च इंजन बाजार में गूगल की हिस्सेदारी 92 प्रतिशत पर बरकरार : रिपोर्ट

नई दिल्ली, 10 अक्टूबर . डकडकगो की एक रिपोर्ट के अनुसार सर्च इंजन बाजार के मामले में गूगल ने एक बार फिर अपना दबदबा बरकरार रखा है. इस साल अगस्त तक टेक दिग्गज ने बाजार में 91.7 फीसदी हिस्सेदारी हासिल कर ली है. इसने माइक्रोसॉफ्ट के बिंग, याहू जैसे प्रतिस्पर्धियों को पीछे छोड़़ दिया है.

टेकोपीडिया डॉट कॉम के अनुसार, माइक्रोसॉफ्ट, जिसने खोज इंजन बाजार में गूगल के साथ प्रतिस्पर्धा करने के प्रयास में सबसे पहले अपने बिंग सर्च इंजन में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) पेश की थी, उसके पास बाजार हिस्सेदारी का केवल तीन प्रतिशत हिस्सा था.

इस महीने की शुरुआत में, माइक्रोसॉफ्ट के अध्यक्ष और सीईओ सत्य नडेला ने स्वीकार किया कि बिंग सर्च इंजन गूगल जितना अच्छा नहीं है, और एप्‍पल का डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन बनने से वास्तव में बिंग को वैश्विक खोज बाजार में बढ़ने में मदद मिल सकती है.

अन्य खोज इंजन, जैसे यांडेक्स (1.5 प्रतिशत), याहू (1.2 प्रतिशत), बैदू (1.1 प्रतिशत), और डकडकगो (0.5 प्रतिशत) की बाजार हिस्सेदारी कम थी.

रिपोर्ट के अनुसार अगस्त तक गूूूगल ने वैश्विक मोबाइल खोज इंजन बाजार में 95.2 प्रतिशत की आश्चर्यजनक हिस्सेदारी हासिल कर ली.

गूगल के बाद, यांडेक्स और बैदू दोनों के पास बाजार का 1.3 प्रतिशत हिस्सा था. याहू ने 0.6 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल की, जबकि बिंग और डकडकगो ने 0.5 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल की.

इसके अलावा, रिपोर्ट में कहा गया है कि 26.7 प्रतिशत के साथ अमेरिका गूगल डॉट कॉम पर ट्रैफ‍िक का शीर्ष स्रोत था, जबकि भारत (4.6 प्रतिशत), ब्राजील (4.4 प्रतिशत), यूके (3.9 प्रतिशत), और जापान (3.9 प्रतिशत) अन्य प्रमुख योगदानकर्ता थे.

जुलाई में गूगल डॉट कॉम पर 85.3 बिलियन विजि‍ट हुईं, विजि‍टर ने औसतन लगभग 10 मिनट खर्च किए. उन्होंने हर बार लगभग 8.6 पृष्ठ देखे, जिसमें बाउंस दर 28.7 प्रतिशत थी.

संतुष्टि स्कोर 7 प्रतिशत बढ़ गया, जो 2022 में 75 से बढ़कर 2023 में 80 हो गया. रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि यह वृद्धि अपने खोज एल्गोरिदम और उपयोगकर्ता अनुभव को बेहतर बनाने के लिए गूगल के समर्पण को उजागर करती है.

एमकेएस

Check Also

दिल्ली मेट्रो की सभी लाइनों पर अब व्हाट्सऐप से टिकट की सुविधा

नई दिल्ली, 5 अक्टूबर . दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने गुरुवार को अपने इनोवेटिव …