Friday , 27 November 2020

घर घर जाकर लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें : अशोक गहलोत


जयपुर (jaipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) निवास पर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना के खिलाफ जागरूकता बढ़ाने के लिए राज्य सरकार (Government) द्वारा किये जा रहे सतत प्रयासों का असर है कि लोग स्वप्रेरणा से मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेसिंग एवं अन्य हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना कर रहे हैं.

गहलोत ने कहा कि ऐसी स्थिति में रावण दहन, दशहरा मेला जैसे कार्यक्रम भी डिजिटल माध्यम से आयोजित किया जाना बेहतर है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि चिकित्सा विशेषज्ञों की राय एवं अनुभवों के अनुसार प्रदूषण के कारण कोविड-19 (Covid-19) के रोगियों में सांस की तकलीफ बढ़ जाती है. साथ ही, इससे मृत्युदर बढऩे की आशंका भी व्यक्त की गई है. ऐसे में, हमें दिवाली एवं दशहरे के अवसर पर आतिशबाजी से बचना चाहिए. साथ ही, सर्दी के मौसम मेें संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ सकता है. इसे देखते हुए लोग वैवाहिक समारोहों एवं त्यौहारों के दौरान विशेष सावधानी बरतें.

गहलोत ने कहा कि कोरोना से ठीक हुए रोगियों में हार्ट एवं लंग्स की जटिलताओं के दुष्प्रभाव सामने आ रहे हैं. ऐसे में, कोरोना से ठीक हुए लोग नियमित रूप से चिकित्सक से परामर्श लें और आवश्यक जांच करायें, ताकि कोरोना के दुष्प्रभावों से बचा जा सके. उन्होंने कहा कि अनुभव बताते हैं कि कोरोना के लक्षण नजर आने के बावजूद लोगों ने अस्पताल पहुंचने में देरी की. जिसके कारण उनके फेफडों एवं श्वसन तंत्र के साथ ही अन्य अंगों में जटिलताएं बढ़ गई. ऐसे में, समय पर जांच एवं उपचार कराकर इससेे बचा जा सकता है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने जन आंदोलन के सकारात्मक असर को देखते हुए निर्देश दिए हैं कि स्थानीय निकायों में कार्यरत सफाईकर्मी भी घर-घर जाकर लोगों को मास्क पहनने तथा ‘नो मास्क-नो एन्ट्री’ के लिए प्रेरित करें.