Tuesday , 15 June 2021

रेलवे में नौकरी के नाम पर ठगी

जबलपुर, 21 मार्च . जिस रफ्तार से बेरोजगारी बढ़ रही है उसी रफ्तार से शहर में नौकरी दिलाने के नाम पर होने वाली ठगी की वारदात भी बढ़ रही है. रेलवे (Railway)में नौकरी दिलाने के नाम पर 2 लाख 80 हजार रुपए ठगने का सनसनीखेज मामला रविवार (Sunday) को थाना माढ़ोताल में सामने आया है. जिसके बाद पुलिस (Police) ने मामला प्रकाश में आने के बाद आरोपी को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया, लेकिन पूछताछ में पकड़ा गए युवक ने एक अन्य कबीर नामक व्यक्ति का नाम लिया है. जिसके साथ मिलकर उसने ठगी की वारदातों को अंजाम दिया है. पुलिस (Police) अब उक्त व्यक्ति को तलाश रही है. कयास लगाए जा रहे है कि पुलिस (Police) जल्द ही अन्य वारदातों का भी खुलासा कर सकती है.

माढ़ोताल पुलिस (Police) ने बताया कि नक्षत्र नगर माढ़ोताल निवासी 63 वर्षीय लीला सेन ने शिकायत दर्ज कराई थी कि वर्ष 2016 में वह एक रिश्तेदार की शादी समारोह में शामिल होने के लिए कटनी गई थी. जहां पर उसे ग्राम सलैया, कैमोर जिला कटनी निवासी श्याम सुंदर बर्मन मिला. श्याम सुंदर ने उसे अपनी बातों के जाल में फंसाया और बोला कि वह उसके बेटे प्रखर सेन की रेलवे (Railway)में नौकरी लगवा देगा. रेलवे (Railway)में बड़े अधिकारियों से उसकी पहचान है. लीला सेन के पति की पहले ही मौत हो चुकी थी, बेटा प्राइवेट नौकरी करता था, इसलिए लीला सेन आरोपी श्याम सुंदर के झांसे में आ गई. इसके बाद श्याम सुंदर ने लीला सेन से कहा कि नौकरी लगवाने के लिए रुपए लगेंगे.

50 हजार कैश, 2 लाख 30 हजार बैंक (Bank) खाते में डलवाए………….

पुलिस (Police) ने बताया कि शातिर जालसाज श्याम सुंदर ने लीला सेन को झांसे में लेकर 50 हजार रुपए नगद ले लिए. इसके बाद उसने अपने खाते में लीला सेन से 2 लाख 30 हजार रुपए और जमा करा लिए. इस प्रकार कुल 2 लाख 80 हजार रुपए देने के बाद भी जब बेटे की नौकरी नहीं लगी तो लीला सेन ने श्याम सुंदर से अपने रुपए वापस मांगना शुरू कर दिया. जिसके बाद उसने बातचीत बंद कर दी और अपना मोबाइल भी बंद कर लिया. टीआई रीना पांडेय शर्मा ने बताया कि वृद्धा की शिकायत पर कल आरोपी श्याम सुंदर के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया गया है. पुलिस (Police) की एक टीम ने कटनी में आरोपी के घर एवं आसपास दबिश दी. जहां से उसे हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया है.

Please share this news