Sunday , 29 November 2020

श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर नुवान जोयसा दोषी पाए जाने के बाद बोले- मैं स्तब्ध हो गया

कोलंबो . नियमों के उल्लंघन को लेकर दोषी करार दिए जाने को लेकर लंका के पूर्व क्रिकेटर नुवान जोयसा स्तब्ध है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के स्वतंत्र पंचाट द्वारा तीन आरोपों में भ्रष्टाचार का दोषी पाए जाने के बाद जोयसा ने किसी भी तरह के गलत काम में संलिप्त होने से इनकार किया. मैच फिक्सिंग के आरोपों में पहले ही निलंबन का सामना कर रहे जोयसा पर नवंबर 2018 में आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तहत आरोप लगाए गए थे और गुरुवार (Thursday) को उन्हें सभी आरोपों में दोषी करार दिया गया.

लंका के इस पूर्व अंतरराष्ट्रीय तेज गेंदबाज ने स्वतंत्र भ्रष्टाचार रोधी पंचाट के समक्ष सुनवाई के अपने अधिकार का इस्तेमाल किया था. आईसीसी ने कहा कि जोयसा निलंबित रहेंगे और उनकी सजा की घोषणा बाद में की जाएगी. जोयसा ने कहा, ‘मैं उस समय स्तब्ध हो गया जब मुझे बताया गया कि आईसीसी ने प्रेस बयान जारी करके कहा है कि मुझे उन आरोपों का दोषी पाया गया है जो काम मैंने कभी किया ही नहीं.’ जोयसा ने कहा कि 18 सितंबर को सुनवाई खत्म करने वाले आईसीसी को 30 दिन के भीतर फैसला की घोषणा करनी थी लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो उन्होंने वकील को आईसीसी को लिखने के लिए कहा. जोयसा ने कहा कि आईसीसी के जांचकर्ताओं ने उनसे अंग्रेजी में बात की जिसे वह समझ नहीं पाए और उन्होंने साथ ही दावा किया कि उन्हें अपनी मातृभाषा सिंहला में जवाब देने की स्वीकृति नहीं दी गई. इस पूर्व तेज गेंदबाज को यूएई में एक टी20 लीग के दौरान भ्रष्टाचार में लिप्त होने के आरोपों में मई 2019 में अस्थाई रूप से निलंबित किया गया था.