Saturday , 5 December 2020

मलेशियाई पूर्व पीएम बोले- मुस्लिमों को पूरा हक कि वो लाखों-लाख फ्रांसीसियों को मौत के घाट उतारें

क्वालालंपुर . फ्रांस के नीस के एक चर्च में आतंकी हमले को लेकर पूरा विश्व हतप्रभ है और फ्रांस के साथ संवेदना और सहानुभूति दिखा रहा है, वहीं मलयेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने बेहद भड़काऊ बयान दिया है. महातिर ने इस हमले का यह कहते हुए समर्थन किया कि मुस्लिमों को लाखों फ्रांसिसी नागरिकों को मारने का हक है. महातिर ने गुरुवार (Thursday) को नीस हमले के बाद एक ब्लॉग पोस्ट लिखा, जिसमें उन्होंने फ्रांस के खिलाफ जमकर जहर उगला है. ‘दूसरों का सम्मान कीजिए’ नाम से लिखे गए इस ब्लॉग में हालांकि महातिर ने नीस हमले का जिक्र नहीं किया. महातिर ने ट्विटर पर एक के बाद एक कुल 14 ट्वीट किए. इनमें उन्होंने मुसलमानों के साथ भेदभाव की बात कही और कहा कि फ्रांस ने अतीत में मुसलमानों पर जो अत्याचार किए, इसके लिए मुस्लिमों को पूरा अधिकार है कि वो लाखों-लाख फ्रांसीसियों को मौत के घाट उतारें.

उन्होंने इसमें चेचन्याई छात्र (student) द्वारा फ्रांसीसी टीचर सैमुअल पेटी की नृशंस हत्या (Murder) का जिक्र करते हुए लिखा है, ‘मुस्लिमों को आक्रोशित होने का अधिकार है. उन्हें पूर्व में किए गए नरसंहार के लिए लाखों फ्रांसीसी नागरिकों को मारने का पूरा हक है. लेकिन अभी तक मुस्लिम आंख के बदले आंख की ओर नहीं बढ़े हैं. फ्रांस को अपने नागरिकों को दूसरे की भावनाओं का ख्याल करना की सीख देनी चाहिए.’ ध्यान रहे कि फ्रांस में नीस शहर के नॉट्रडम चर्च में एक हमलावर ने एक महिला का चाकू से गला काट दिया. इस घटना में दो अन्य लोग घायल हो गए. अब तक की जांच में पता चला है कि 20 साल का हमलावर इटली के रास्ते फ्रांस में दाखिल हुआ था. पुलिस (Police) ने बताया कि हमलावर हाथ में कुरान और चाकू लेकर चर्च के अंदर घुसा था.