Friday , 16 April 2021

‘अपना घर’ आश्रम में मिली पूर्व सीएम मरांडी की लापता बहन

भरतपुर (Bharatpur) . मानसिक अवसाद के कारण करीब सात पहले पहले घर से निकली झारखंड के पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी की बहन मैंसूरी देवी भरतपुर (Bharatpur) के ‘अपना घर’ आश्रम में मिली हैं. जैसे ही मैंसूरी देवी के भरतपुर (Bharatpur) में होने की जानकारी झारखंड में मरांडी परिवार को मिली तो परिजन दौड़े आये और उन्हें यहां से अपने साथ ले गये. मैंसूरी देवी अपने बेटे और भाई को देख भावुक हो गईं.

अपना घर आश्रम के संचालकों ने बताया कि मैंसूरी देवी वर्ष 2000 से ही मानसिक अवसाद में थी. उनका रांची (Ranchi) में इलाज चल रहा था. इसी दौरान उसी हालत में वह 2012 में परिवार से बिछुड़ गई थी और भटकते-भटकते भरतपुर (Bharatpur) के खोह डीग पहुंच गई थी. मई-2018 में उसे वहां से अपना घर आश्रम लाया गया. यहां पर उसका इलाज चला. स्वस्थ होने पर उसने अपना पता बताया. उस पते पर सूचित किया तो जानकारी मिली कि वह पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी की बहन हैं. इस सूचना के बाद बाबूलाल मरांडी के छोटे भाई नूनूलाल मरांडी और बेटा सुलेमान भरतपुर (Bharatpur) पहुंचे.

वहां अपना घर आश्रम के प्रबंधकों ने मैंसूरी देवी को उनके सुपुर्द कर दिया. उन्होंने झारखंड के पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी की आश्रम के संस्थापक बीएम भारद्वाज से बात भी कराई. अपनी बहन के मिलने पर ख़ुशी प्रकट करते हुए उन्होंने भारद्वाज से कहा कि वे जब भी दिल्ली आएंगे अपना घर आश्रम की विजिट जरूर करेंगे और व्यवस्थाएं देखेंगे की ऐसे लोगों के लिए झारखंड में क्या कर सकते हैं. इस पर चर्चा भी करेंगे.

Please share this news