Monday , 10 May 2021

किसान संगठनों ने अंबानी और गौतम अडाणी के सामनों के बहिष्कार की बात कही

किसान नेता गुरनाम सिंह ने कहा है कि पतंजलि के उत्पादों का भी बहिष्कार होना चाहिए

नई दिल्ली (New Delhi) . एक तरफ किसान संगठनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हैं, वहीं दूसरी तरफ उनका गुस्सा देश के उद्योगपतियों को ऊपर भी निकल रहा है. मुकेश अंबानी और गौतम अडाणी के प्रॉडक्ट्स का बहिष्कार करने के बाद किसान संगठनों की नजर बाबा रामदेव के पतंजलि पर टेढ़ी हो गई है. किसान नेता गुरनाम सिंह ने कहा है कि पतंजलि के उत्पादों का भी बहिष्कार होना चाहिए.

भारतीय किसान यूनियन की हरियाणा (Haryana) इकाई के अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने कहा, हमने दो फैसले लिए हैं. एक बाबा रामदेव, अंबानी और अडाणी के सामानों का बहिष्कार किया जाना चाहिए, लेकिन जबरदस्ती किसी की दुकान या पेट्रोल (Petrol) पंप वगैरह नहीं बंद करानी है. दूसरा ये कि जबतक हमारी मांग नहीं मान ली जाती है जबतक हरियाणा (Haryana) में अनिश्चित काल के लिए सारे टोल फ्री रहेगा. बता दें कि प्रदर्शनकारी किसानों में देश के दो दिग्गज उद्योगपतियों- मुकेश अंबानी और गौतम अडाणी के प्रति काफी रोष देखा जा रहा है. इनका मानना है कि इन दोनों उद्योगपतियों की नजर किसानों की जमीनों पर है क्योंकि वो कृषि उद्योग में अपना धंधा तलाश रहे हैं.

Please share this news