Sunday , 18 April 2021

कर्ज एक बार लिया किसान ने, वसूली हुई दो बार

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश भर में ‎किसानों की सुविधा के ‎लिए बनाई गई सहकारी समितियां ही उनके शोषण पर उतारु हो गई है. ‎किसानों को यहां से सुविधाएं ‎मिलने की जगह उनका शोषण ‎किया जा रहा है. ऐसा ही एक मामला प्रदेश के उमरिया जिले के ग्राम ददरौडी में प्रकाश में आया है. यहां रहने वाले एक किसान ने एक बार कर्ज लिया था लेकिन उससे उसी रकम की दो बार वसूली हो चुकी है. पहले हुई वसूली की रसीद किसान के पास है और वह उस रसीद को दिखाता रहा लेकिन सहकारी संघ के लोगों ने उसकी बात नहीं सुनी और दोबारा से उससे वसूली कर ली.

ग्राम ददरौडी निवासी भोला प्रसाद यादव ने कलेक्टर (Collector) से की गई शिकायत में आरोप लगाया है कि उसने कुछ समय पहले सहकारी समिति ददरौडी से 14000 रुपए की रकम कर्ज कर ली थी. यह कर्जा उसने बीज आदि के लिए लिया था, जिसे वह चुका भी चुका है. इसके बावजूद उसे दोबारा वसूली की गई है. हाल ही में भोला प्रसाद यादव अपनी धान की फसल बेचने के लिए सहकारी समिति ददरोड़ी गया था, जहां उससे इस रकम की वसूली की गई है. धान खरीदी के बाद सहकारी समिति के लोगों ने उसे बताया कि उसके ऊपर 14000 रुपए का कर्ज बकाया है. भोला प्रसाद ने सहकारी समिति के प्रबंधक से कहा कि वह इस रकम को पहले ही चुका है, लेकिन प्रबंधक ने उसकी बात नहीं मानी और बेचे गए धान के कुल भुगतान में से वह रकम दोबारा वसूली गई, जो उस पर कर्ज बताई जा रही थी. इस घटना से किसान भोला प्रसाद यादव काफी निराश हुआ और उसने मामले की शिकायत कलेक्टर (Collector) से कर दी. कलेक्टर (Collector) ने भी सिर्फ आश्वासन दिया है कि मामले की जांच की जाएगी. लेकिन जांच कब होगी और इसके परिणाम क्या आएंगे अभी इस बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता है. प्रदेश के अनपढ ‎किसानों के साथ इस तरह के वाकये आए ‎दिन होते रहते हैं, और उनकी अवाज सुनने वाला कोई नहीं होता है. ‎किसानों को शोषण बदस्तुर जारी रहता है.

Please share this news