Thursday , 26 November 2020

सहकारिता का विस्तार कर लोगों को सुविधाएं दे


जयपुर (jaipur) . प्रबंध निदेशक, अपेक्स बैंक (Bank) राजीव लोचन शर्मा ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से वित्तीय समावेशन को गति मिली है और दूर-दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को बैंकिंग सुविधाओं का लाभ मिल रहा है. उन्होंने कहा कि वर्तमान दौर में सोशल मीडिया (Media) एक प्रभावी माध्यम है, जिसके द्वारा सहकारिता को ओर आगे ले जाया जा सकता है.

शर्मा 67वें सहकार सप्ताह के समापन समारोह के विषय ÓÓवित्तीय समावेशन, डिजिटाईजेशन एवं सोशल मीडिया (Media) द्वारा सहकारिताÓÓ पर आधारित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में चुनौतिया अधिक है क्योंकि तकनीक लगातार अपग्रेड एवं परिवर्तित होती जा रही है. ऐसे में पूर्ण जिम्मेदारी के साथ बैंकिंग के माध्यम से सहकारिता का विस्तार कर लोगों को सुविधाएं दी जाए. उन्होंने कहा कि हम सभी गुणवतापूर्ण सेवा प्रदान कर लोगों को आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाने का कार्य कर रहे है. उन्होंने कहा कि आज सोशल मीडिया (Media) का उपयोग लगभग प्रत्येक परिवार कर रहा है. ऐसे में इनोवेशन के द्वारा इस माध्यम को सहकारिता एवं बैंकिंग सुविधाओं के विस्तार के लिए नई सोच के साथ अपनाना होगा.कार्यशाला में बैंक (Bank) ऑफ बड़ौदा के प्रशिक्षक सतीश जिंदल ने कहा कि कोई भी लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नही होता है. उन्होंने कहा कि लोगों के खाते खोलना, क्रेडिट सुविधा, इन्वेस्टमेंन्ट एवं बीमा सुविधा वित्तीय समावेशन के चार स्तम्भ है और इसी के आधार पर लोगों को बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है.

उन्होंने कहा कि वित्तीय समावेशन को और व्यापक रूप दिया जाना चाहिए तभी लोगों के साथ धोखाधड़ी को पूर्ण रूप से रोका जा सकता है. जिंदल ने कहा कि डिजिटाईजेशन के द्वारा अर्थव्यवस्था कैश से कैशलेस की ओर बढ़ रही है. लोगों को घर बैठे पारदर्शिता के साथ सुविधाएं उपलब्ध हो रही है. इससे पूर्व महाप्रबंधक शिवदयाल मीणा ने अतिथियों का बुके भेंट कर स्वागत किया. मीणा ने अंत में धन्यवाद ज्ञापित किया. कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर की गई. कार्यशाला में अपेक्स बैंक (Bank) के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे. कार्यशाला से पहले अपेक्स बैंक (Bank) परिसर में प्रबंध निदेशक राजीव लोचन शर्मा ने सहकारिता के झंडे का झंडारोहण किया.