Tuesday , 19 January 2021

आखिरकार दिल्ली में दाखिल हुए किसान

पानी की बौछारों और झड़पों के बाद सशर्त मिली इजाजत

नई दिल्‍ली . पानी की बौछारें और सुरक्षाकर्मियों के साथ झड़प के बाद हजारों किसान (Kisan Andolan) शुक्रवार (Friday) को दिल्ली पुलिस (Police) से राष्ट्रीय राजधानी के बुराड़ी ग्राउंड में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अनुमति मिलने के उपरांत टिकरी बार्डर से शहर में दखिल हुए.

farmer-protest

करीब तीन बजे ये किसान टिकरी बार्डर से शहर में प्रवेश करना शुरू किये. इस बीच पुलिस (Police) ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी. ये केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत पहुंचे हैं.

पुलिस (Police) ने शुक्रवार (Friday) को किसानों को उत्तरी दिल्ली के निरंकारी ग्राउंड में प्रदर्शन करने की अनुमति दी. यह दिल्ली के सबसे बड़े मैदानों में एक है. लेकिन सिंघू बार्डर पर इकट्ठा हुए किसान अबतक शहर में दाखिल नहीं हुए हैं.

इससे पहले दिन में दिल्ली पुलिस (Police) ने सिंघु बार्डर पर किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसूगैस का इस्तेमाल किया क्योंकि ये लोग केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ अपने मार्च के तहत राष्ट्रीय राजधानी की ओर बढ़ने का प्रयास कर रहे थे. किसानों ने दिल्ली में दाखिल होने के प्रयास में पुलिस (Police) पर पथराव भी किया और बैरीकेड तोड़े.

किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए शहर की सीमाओं पर भारी पुलिस (Police) बल तैनात किया गया था. सिंघू बार्डर पर धुंआ ही धुंआ नजर आ रहा था. सुरक्षाकर्मियों ने किसानों को तितर-बितर करने के लिए कई बार आंसू गैस के गोले दागे. टिकरी बार्डर पर किसानों की पुलिस (Police) के साथ झड़प हुई.

इस प्रदर्शन के कारण शहर के कई हिस्सों में यातायात बाधित रहा. दिल्ली यातायात पुलिस (Police) ने कई ट्वीट किये एवं लोगों से पंजाब (Punjab) के किसानों के दिल्ली चलो आंदोलन के चलते बाहरी रिंगरोड, मुकरबा चौक, जीटीके रोड, एनएच 44, सिंघू बार्डर से परहेज करने का परामर्श दिया. उसने कहा, ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोर्डिनेशन कमिटी की रैली/मार्च/ प्रदर्शन के मद्देनजर वह मुकरबा चौक एवं जीटीके रोड से मार्ग बदल रही है. इस क्षेत्र में भारी जाम है.

राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर जमा हजारों किसानों को उत्तरी दिल्ली के एक मैदान में शांतिपूर्ण प्रदर्शन की इजाजत मिलने के बाद शहर के आसपास शुक्रवार (Friday) को सुबह से बना तनाव का माहौल कुछ हद तक खत्म हो गया. केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत विभिन्न स्थानों पर जमा किसानों को रोकने के लिए घंटों तक पुलिस (Police) को मशक्कत करनी पड़ी. पुलिस (Police) ने आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछारों का भी प्रयोग किया लेकिन किसान नहीं माने. कई जगहों पर किसानों ने पथराव किया और बैरिकेड भी तोड़ डाले.

दिल्ली पुलिस (Police) के जनसंपर्क अधिकारी ईश सिंघल ने बताया, किसान नेताओं के साथ बातचीत के बाद प्रदर्शनकारी किसानों को दिल्ली में बुराड़ी के निरंकारी मैदान में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अनुमति दी गयी है. हम किसानों से शांति बनाये रखने की अपील करते हैं.


Please share this news