उबले अंडे खाने से हमेशा नहीं ‎मिलते बेहतर ‎रिजल्ट – हो सकते है साइड इफेक्ट भी – Daily Kiran
Saturday , 23 October 2021

उबले अंडे खाने से हमेशा नहीं ‎मिलते बेहतर ‎रिजल्ट – हो सकते है साइड इफेक्ट भी

नई दिल्ली (New Delhi) . एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार, उबले अंडे, लीन प्रोटीन, बिना स्टार्च वाली सब्जियां, तरबूज, जामुन, अंगूर जैसे फल और कम वसा वाले खाद्य पदार्थ कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं, जिनका सेवन तब जरूर करना चाहिए जब आप बॉईल एग डाइट फॉलो कर रहे हैं. न्यूयॉर्क के एक डाइट न्यूटिशन एक्सपर्ट एरिन पॉलिस्की के अनुसार, इस डाइट में लोग नाश्ते में फल के साथ दो अंडे, दोपहर के भोजन और रात के खाने में अंडे या एक लीन प्रोटीन के साथ-साथ केवल नॉन-स्टार्च वाली सब्जियों का सेवन करते हैं.

कार्बोहाइड्रेट का सेवन जितना कम होगा, यह आपके वजन घटाने में उतना ही बड़ा सहयोग करेगा. हालांकि, यह लंबे समय तक टिकाऊ नहीं है, न ही आपके शरीर को संतुलित पोषण प्रदान करता है. पॉलिस्की ने कहा कि उबले हुए अंडे वाली डाइट से आप शुरूआत में कुछ हद तक वजन कम कर सकते हैं, लेकिन जरूरी नहीं कि आपको इसके बेस्ट रिजल्ट्स ही मिलें. न्यूयॉर्क के एक अन्य डाइट एक्सपर्ट केरी गन्स कहते हैं कि आहार सभी प्रोसेस्ड फूड यहां तक की अन्य सब्जियों जैसे आलू, मक्का, मटर और फलियों से बचने में मदद करता है. इसमें आपको कुछ फलों जैसे केला, अनानास, आम, सूखे मेवे और मीठे पेय पदार्थों से भी बचने के लिए कहा जाता है. हाल ही में एक अध्ययन के अनुसार, साबुत अनाज खाना आपके ह्रदय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है और वजन घटाने में भी कारगार है. बॉईल एग डाइट में दो उबले अंडे खाने की सलाह दी जाती है. लेकिन क्या इसे दिनभर खाना ठीक है. पॉलिंस्की इसे ज्यादातर लोगों के लिए सही नहीं मानते. यह याद रखना जरूरी है कि स्वास्थ्य वर्धक पोषक तत्वों के साथ -साथ अंडे में कोलेस्ट्रॉल और सेचुरेटेड फैट भी होता है, जो हमारे लीवर और ह्रदय स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाता है. एक रिपोर्ट के अनुसार, जो लोग रोजाना अंडे खाते हैं, उनमें हृदय रोग का खतरा लगभग 20 प्रतिशत ज्यादा होता है. लेकिन अगर आप हफ्ते में दो से तीन बार दो अंडे खा रहे हैं, तो आपको परेशान हाने की जरूरत नहीं है.

ये आपके लिए नुकसानदायक नहीं है.यह आहार कम कैलोरी वाला है. यह साबुत अनाज और बीन्स जैसे कई हाई फाइबर फूड्स पर रोक लगाता है. मेयो क्लीनिक के अनुसार, यह कहा जाता है कि 50 वर्ष यर उससे ज्यादा उम्र के पुरूषों को कम से कम 38 ग्राम फाइबर और महिलाओं को कम से कम 25 ग्राम फाइबर का सेवन करना ही चाहिए. अगर आप इससे कम मात्रा में फाइबर का सेवन करेंगे, तो कब्ज की शिकायत हो सकती है. कब्ज का खतरा तब ज्यादा बढ़ जाता है, जब आप केवल उबले अंडे खाते हैं. क्योंकि अंडों में फाइबर की मात्रा न के बराबर होती है. यदि आप थोड़े समय के लिए उबले अंडे की डाइट लेते हैं और आमतौर पर स्वस्थ हैं, तो इसे कोई समस्या होने की संभावना नहीं है. जब आप अपने वजन में बहुत जल्दी परिणाम देखना चाहते हैं, तो शुरूआती स्टेज पर यह डाइट ठीक है, लेकिन रैगुलर इसे फॉलो करना आपके स्वास्थ्य को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है. बॉईल एग डाइट एक फैड डाइट है, जिसमें लोग वजन घटाने के लिए केवल अंडे, कुछ फल और नॉन -स्टार्च वाली सब्जियां खाते हैं. लेकिन लंबे समय तक इस आहार का पालन करना ठीक नहीं है.

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भूलकर भी इस डाइट को फॉलो नहीं करना चाहिए. इस तरह की डाइट बाद में ज्यादा खाने और ज्यादा निराशा का कारण बन सकती है. मालूम हो ‎कि स्वस्थ शरीर के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है. उबले अंडे को प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत माना जाता है. मांसपेशियों की ताकत में सुधार से लेकर संपूर्ण शारीरिक विकास में मदद करने तक प्रोटीन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इसलिए अंडे को प्रोटीन का राजा भी कहते हैं.
 

Please share this news

Check Also

डायबिटीज मरीजों को इन फलों को खाने से बचना चा‎हिए

नई दिल्ली (New Delhi) . डाक्टरों द्वारा डायबिटीज के मरीजों को फल खाने के लिए …