घरेलू कंपनियों ने व्हाइट गुड्स के लिए पीएलआई स्कीम में 5,866 करोड़ रु के निवेश की प्रतिबद्धता की – Daily Kiran
Thursday , 28 October 2021

घरेलू कंपनियों ने व्हाइट गुड्स के लिए पीएलआई स्कीम में 5,866 करोड़ रु के निवेश की प्रतिबद्धता की

नई दिल्ली (New Delhi) . व्हाइट गुड्स (एयर कंडीशनर तथा एलईडी लाइट्स आदि) के कंपोनेंट के घरेलू उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए पीएलआई स्कीम के तहत कुल 52 कंपनियों ने 5,866 करोड़ रु के निवेश की प्रतिबद्धता के साथ आवेदन दाखिल किए हैं. आवेदन करने की अवधि 15 सितंबर को समाप्त हो गई. पीएलआई स्कीम 16.04.2021 को अधिसूचित की गई थी. डायकिन, पानासोनिक, हिताची, मेत्तुबे, नाइडेक, वोल्टास, ब्लूस्टार, हैवेल्स, अंबेर, ईपैक, टीवीएस-लुकास, डिक्सन, आर के लाइटिंग, यूनिग्लोबस, राधिकाऑप्टो, सिस्का जैसी कई कंपनियों ने एयर कंडीशनर तथा एलईडी लाइट्स आदि के महत्वपूर्ण कंपोनेंट के विनिर्माण के लिए आवेदन किया है.

ऐसे कंपोनेंट के उत्पादन के लिए आवेदन दाखिल किए हैं, जिनका वर्तमान में भारत में पर्याप्त क्षमता के साथ निर्माण नहीं हो रहा है. एयर कंडीशनरों के लिए कई कंपनियां अन्य कंपोनेंट के साथ साथ कंप्रेसरों, कॉपर ट्यूबिंग, फायल के लिए अल्युमिनियम स्टॉक, आईडीयू या ओडीयू के लिए कंट्रोल असेंबली, डिस्प्ले यूनिट, बीएलडीसी मोटर का निर्माण करेंगी. एलईडी लाइट्स के लिए एलईडी चिप पैकेजिंग, एलईडी ड्राइवर्स, एलईडी इंजन, एलईडी लाइट मैनेजमेंट सिस्टम, मेटल क्लैड पीसीबी सहित पीसीबी तथा वायर वाउंड इंडक्टर आदि का भारत में विनिर्माण किया जाएगा.

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 7 अप्रैल, 2021 को 6238 करोड़ रु के परिव्यय के साथ वित्त वर्ष 2021-22 से 2028-29 तक कार्यान्वित होने वाले व्हाइट गुड्स (एयर कंडीशनर तथा एलईडी लाइट्स आदि) के लिए उत्पादन से संबंधित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को स्वीकृति दी है. योजना 16.04.2021 को डीपीआईआईटी द्वारा अधिसूचित की गई थी. योजना के दिशानिर्देश 4 जून, 2021 को प्रकाशित किए थे. 15 जून से 15 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन प्राप्त किए हैं. आवेदकों का चयन आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि से 60 दिनों के भीतर अर्थात 15.11.2021 तक किया जाएगा.

Please share this news

Check Also

आरबीआई ने बलदेव प्रकाश को बनाया जेके बैंक का एमडी, सीईओ

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) (आरबीआई (Reserve Bank of India) ) …