Wednesday , 23 June 2021

भाजपा विधायक का विवादित बयान, कड़ा परिश्रम करनेवालों नहीं होता कोरोना

अहमदाबाद (Ahmedabad) . गुजरात (Gujarat) में फिर एक बार कोरोना संक्रमण के लिए नेताओं और कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार माना जा रहा है. स्थानीय निकाय चुनावों में उनकी लापरवाही का खामियाजा आज पूरे गुजरात (Gujarat) को भुगतना पड़ रहा है. लेकिन इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं है कि चुनाव प्रचार के दौरान उनके द्वारा कोविड नियमों का उल्लंघन करने की वजह से राज्य में कोरोना संक्रमण बढ़ा है. भाजपा विधायक गोविंद पटेल ने कोरोना संक्रमण को लेकर विवादित बयान दिया है.

गोविंद पटेल का कहना है कि काली मजदूरी करने वाले लोग कोरोना संक्रमित नहीं होते. मीडिया (Media) ने जब गोविंद पटेल से पूछा कि चुनाव प्रचार के दौरान नेता और कार्यकर्ता कोविड नियमों की धज्जियां उड़ा रहे थे. सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को तार तार करने वाले कार्यकर्ताओं ने मास्क तक नहीं लगाए थे. क्यों न माना जाए कि चुनावों में कोविड नियमों के उल्लंघन की वजह से राज्य में कोरोना तेजी से फैल रहा है? सवाल के जवाब में गोविंद पटेल ने कहा कि चुनावों के दौरान कार्यकर्ताओं ने कड़ा परिश्रम किया है और कड़ा परिश्रम करनेवालों को कोरोना नहीं होता. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव के दौरान कार्यकर्ताओं से सोशल डिस्टेंस का पालन और मास्क लगाने की अपील की गई थी.

Please share this news