Tuesday , 13 April 2021

पंचायत सचिव और रोजगार सहायक के एक साथ आंदोलन से विकास कार्य हुए ठप्प

बिलासपुर (Bilaspur) . पंचायत सचिवों और रोजगार सहायकों के एक साथ आंदोलन पर चले जाने से पंचायतों में विकास और रोजगार के कार्य रुक गए है.शासन की कल्याणकारी योजनाए क्रियान्वित नहीं हो पा रही.इधर आंदोलनकारी शासन का ध्यान अपनी ओर आकृष्ट करने तरह तरह से प्रदर्शन कर रहे हैं.आज सचिवों के का आंदोलन दसवें दिन भी जारी रहा. वही अब रोजगार सहायक भी सात: में शामिल हो गए है.

अपनी एक सूत्रीय मांग को लेकर अनिश्चित कालीन आंदोलन पर बैठे पंचायत सचिव अपनी ओर शासन और आमजनों का ध्यान आकृष्ट करने के लिए नये-नये तरीके अपना रहे है. अपने आंदोलन पंडाल में विभिन्न क्षेत्रों के विधायकों द्वारा शासन को लिखे सचिवों की मांग से समर्थन के लिए अनुशंषा पत्र को सार्वजनिक रूप से बैनर बनाकर टंगवा दिया है. तो वही रविवार (Sunday) की छुट्टी में भी आंदोलन जारी रखा और गीत संगीत के माध्यम से अपने अधिकारों की मांग की.आज आंदोलन के दसवें दिन भी सचिवों और रोजगार सहायकों ने संगीत की धुनों के साथ शासन के सामने अपना विरोध दर्ज कराया.अब ग्राम सचिवों को धीरे धीरे ग्राम पंचायत के सरपंचों का साथ भी मिलने लगा है. सरपंच भी धरना स्थल पर आकर सचिवों और रोजगार सहायको का समर्थन कर रहे है. आज धरना स्थल में पंचायत सचिव एवम रोजगार सहायकों के द्वारा सयुक्त रूप से पारम्परिक गीत संगीत के माध्यम से मनमोहक प्रस्तुतिया किये गए, जिससे मंच में आस पास गुजरने वाले लोगो का ध्यान आकृष्ट किया.पंचायत सचिव अश्वनी निर्मलकर, अक्षय श्रीवास, परसराम मरावी,प्रेमदास मानिकपुरी,ध्रुव कश्यप,मनमोहन साहब टंडन,द्वारा संगीतमय प्रस्तुति दी गई. घोरामार सरपंच पारस ध्रुव द्वारा मंच में भक्तिमय देवी गीत प्रस्तुत किया गया.

शासन की महत्वपूर्ण योजनाए हो रहे प्रभावित

पंचायत सचिवों के ‘काम बंद कलम बंद’को ग्राम रोजगार सहायकों का साथ मिल जाने से ग्राम पंचायतो के सभी कामो में पूर्ण रूप से विराम लग गया है.जनपद कार्यालय जो,आम दिनों में लोगो से भरा रहता था वह आज सोमवार (Monday) को सप्ताह के प्रथम कार्य दिवस में भी सुना रहा. ब्लाक अध्यक्ष रामलाल सिंगरौल ने पंडाल में संवधन देते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री (Chief Minister) जी छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) शासन द्वारा जब तक हमारी मांग- 02 वर्ष की परिवीक्षा अवधि समाप्ति पश्चात पूर्ण शासकीयकरण आदेश पर पहल नही किया जाता है,हमारा हड़ताल निरन्तर जारी रहेगा. हमारे हड़ताल में आने से शासन की सभी योजनाये बंद हो चुकी है.यदि शासन द्वारा अतिशीघ्र हमारे मांग पूर्ण नही की जाती है, तो छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) शासन जो स्वच्छता अभियान, मनरेगा, गोधन न्याय योजना,गौठान निर्माण, में अग्रणी है,धराशाही हो जाएगा और प्रदेश सरकार को शर्मिंदगी उठाना पड़ेगा.

आज इन्होंने दिया धरना

धरना स्थल में ब्लाक अध्यक्ष रामलाल सिंगरौल के साथ मे ब्लाक सचिव कृष्ण कुमार कौशिक,प्रांतीय मीडिया (Media) प्रभारी अभ्युदय किरण तिवारी, उपाध्यक्ष हरप्रसाद भास्कर,मनमोहन साहब टंडन, कोषाध्यक्ष सुखनंदन सिंगरौल, शिव कश्यप,टाइम लाल कौशिक, बालीराम नेताम, सुरेश मिश्रा,राजकुमार खुटियारे, सौखी लाल कर्ष,दिनेश कौशिक, संतोष कौशिक,देवप्रसाद साहू, दिनेश साहू,राजकुमार सेंगर कृष्णदस कोशले,ईश्वर क्षत्री,हेमन बंजारे, राधेलाल चतीर्वेदी,दुर्गाप्रसाद मरावी, निहाली राम पटेल,राजकुमार कैवर्त, मुकेश कौशिक,अनुज राम सिंगरौल,उमेश जायसवाल,त्रिभुवन मेहर, सालिकराम सिंगोरे,वीरेंद्र सूर्यवंशी, लालजी कौशिक, अनवर अली, मन्ना लाल यादव, शंकरलाल सिंगरौल,सतीश कुमार अनंत दिलीप पात्रे, शिवकुमार लहरे,आत्माराम मेहर,जितेंद्र साहू,सत्यप्रसाद साहू, राजेश ठाकुर, संजीव जायसवाल, हरीशखांडे, सुलक्षणा दिवाकर, भारती राजपूत, चित्रलेखा कौशिक, संतोषी गढेवाल, सावित्री साहू, पूर्णिमा पांडेय, रुकसाना खान, सरिता यादव, अमृता सिंह ठाकुर, साधना जगत,अनिता मानिकपुरी, एवम रोजगार सहायक साथी उपस्थित रहे.

 

Please share this news