Saturday , 15 May 2021

वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली सरकार तैयार : सतेंद्र जैन

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने बताया कि दिल्ली में साढ़े 7 महीनों में पहली बार कोविड के 500 से कम केस आए हैं. वहीं सकारात्मकता दर में भी लगातार गिरावट देखी जा रही है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब कोरोना का प्रकोप काफी हद तक नियंत्रण में है, लेकिन फिर भी सभी को मास्क पहनना चाहिए और बाकी सावधानियां भी बरतनी चाहिए. टीका लगाने के प्रोटोकॉल के बारे में उन्होंने बताया कि डीजीसीआई ने इसकी स्वीकृति दे दी है. मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले एवं कोमॉरबीडीटी वाले मरीज़ों को पहले टीका लगाया जाएगा. डीजीसीआई द्वारा वैक्सीन को मिली मंजूरी को लेकर सत्येंद्र जैन ने कहा, हमें अभी-अभी बताया गया है कि भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा टीकों को मंजूरी मिल गई है. दिल्ली सरकार टीकाकरण की पूरी व्यवस्था कर चुकी है. उन्होंने कहा कि हमारा प्रोटोकॉल होगा कि स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स, 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले और को-मारबीडीटी वाले लोगों को पहले टीका लगाया जाएगा. दिल्ली में तीन लाख स्वास्थ्य कर्मचारी और छह लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं. इन 9 लाख लोगों को टीका लगाना हमारी प्राथमिकता होगी. पहले चरण में 500-600 कोविड वैक्सीन लगाने के लिए केंद्र बनाए जाएंगे, जिनकी संख्या को समय के साथ 1000 तक कर दी जाएगी.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोविड मरीजों के लिए आरक्षित बेड की संख्या घटाने के बाद भी अभी 10500 से 12000 बेड उपलब्ध हैं. जहां तक कोविड केंद्रों को बंद करने की बात है, दिल्ली सरकार विशेषज्ञों के साथ मिलकर बड़ी सतर्कता और सावधानियों को ध्यान में रखते हुए केंद्रों की संख्या घटा रही है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार रोल-आउट के लिए पूरी तरह से तैयार है. कल सरकारी अस्पताल, निजी अस्पताल और सरकारी डिस्पेंसरी- इन तीन स्थानों पर बने केंद्रों पर एक ड्राई रन चलाया गया. वैक्सीन के स्टोरेज की भी सारी तैयारियां हो गई हैं. पहले चरण में, हम 500-600 वैक्सीन केंद्र बनाएंगे जिसके बाद इन केंद्रों की संख्या बढ़ाकर 1000 तक कर दी जाएगी. दिल्ली में कोविड बेड की संख्या घटाने पर उन्होंने कहा,पिछले कुछ दिनों में हमने दिल्ली में बेडों की संख्या घटाई है. जिसके तहत दिल्ली सरकार के अस्पतालों में 2500 एवं निजी अस्पतालों में 5000-6000 बेड कम किए गए. पहले हमारे पास 18,800 बेड उपलब्ध थे, लेकिन संख्या घटाने के बाद भी हमारे पास 10,500-12,000 बेड हैं. हम अगले सप्ताह बेडों की संख्या और घटाएंगे.

Please share this news