सीपीआई-एम को मदुरै लोकसभा सीट मिलने की संभावना नहीं, डीएमके के स्थानीय नेतृत्व ने जताई है आपत्ति

चेन्नई, 31 जनवरी . तमिलनाडु में राजनीतिक दल सीट बंटवारे को लेकर बातचीत में व्यस्त हैं, ऐसे में डीएमके नेतृत्व चाहता है कि पार्टी मदुरै लोकसभा सीट पर चुनाव लड़े, जो अब तक सीपीआई-एम के पास थी.

द्रमुक के सूत्रों ने को बताया कि पार्टी के स्थानीय नेतृत्व और कार्यकर्ताओं ने सीपीआई-एम के मदुरै जैसी प्रतिष्ठित सीट पर फिर से चुनाव लड़ने पर नाखुशी व्यक्त की है, जबकि वाम दल का क्षेत्र में कोई प्रभाव नहीं है.

द्रमुक क्रमशः 3 और 4 फरवरी को सीपीआई और सीपीआई-एम के साथ सीट बंटवारे पर बातचीत कर रही है और मदुरै से चुनाव लड़ने वाले सीपीआई-एम उम्मीदवार का मुद्दा तब चर्चा किए जाने वाले प्रमुख मुद्दों में से एक होगा.

हालांकि, सीपीआई-एम के सूत्रों ने को बताया कि वह मदुरै से 2024 लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ेगी और पार्टी अपने वर्तमान सांसद सु वेंकटेशन की जगह एक नए चेहरे को ले सकती है, अगर इससे डीएमके कैडर और नेता नाराज हैं.

इस बीच, द्रमुक की एक अन्य सहयोगी पार्टी एमडीएमके ने उससे छह लोकसभा सीटें आवंटित करने का अनुरोध किया था.

पार्टी नेता और राज्यसभा सांसद वाइको ने मंगलवार को एक बयान में एमडीएमके द्वारा छह सीटों पर चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी.

वाइको ने त्रिची, कुड्डालोर, इरोड, विरुधुनगर, कांचीपुरम और मयिलादुथुराई सीटों के लिए अनुरोध किया है.

हालांकि, डीएमके के झुकने की संभावना नहीं है और एमडीएमके को 2019 के चुनावों में लड़ी गई एक सीट से ही संतोष करना होगा.

/

Check Also

काशी की तर्ज पर सीरगोवर्धन का दिख रहा नया स्वरूपः मुख्यमंत्री योगी

वाराणसी, 23 फरवरी . उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सीरगोवर्धन का …