Monday , 30 November 2020

गुजरात में कोरोना का कहर : अहमदाबाद के बाद आज से सूरत, वडोदरा और राजकोट में रात्रि कर्फ्यू

अहमदाबाद (Ahmedabad) . गुजरात (Gujarat) में कोरोना विस्फोट के बाद अहमदाबाद (Ahmedabad) के बाद सूरत (Surat), वडोदरा (Vadodara)और राजकोट में रात्रि कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. अहमदाबाद (Ahmedabad) में शुक्रवार (Friday) की रात 9 बजे से सोमवार (Monday) की सुबह 6 बजे का कर्फ्यू लगाया गया है. जबकि सूरत (Surat), वडोदरा (Vadodara)और राजकोट में शनिवार (Saturday) रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. सोमवार (Monday) के पश्चात अहमदाबाद (Ahmedabad) समेत, सूरत (Surat), वडोदरा (Vadodara)और राजकोट में अगले आदेश तक रात्रि कर्फ्यू जारी रहेगा. मुख्यमंत्री (Chief Minister) विजय रूपाणी की अध्यक्षता हुई बैठक के बाद उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) नितिन पटेल ने बताया कि शनिवार (Saturday) से सूरत (Surat), वडोदरा (Vadodara)और राजकोट में रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. नागरिकों को भयभीत होने की बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है.

जबकि अहमदाबाद (Ahmedabad) में आज रात यानी शुक्रवार (Friday) रात 9 बजे से सोमवार (Monday) की सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है. उन्होंने कहा कि सूरत (Surat), वडोदरा (Vadodara)और राजकोट में ऐहतियात के तौर पर रात्रि कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. बीते दिन गुजरात (Gujarat) में कोरोना के 1340 केस दर्ज हुए थे और शुक्रवार (Friday) को यह संख्या बढ़कर 1420 पर पहुंच गई है. राज्य सरकार (State government) ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग प्रक्रिया शुरू की है और लोग स्वैच्छा से टेस्टिंग कराने आ रहे हैं. कोरोना के नए मरीजों के उपचार के लिए अलग अलग अस्पतालों में व्यवस्था की गई है. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया (Media) पर हव्वा खड़ा किया जा रहा है कि सरकारी अस्पतालों में बैड खाली नहीं है. नितिन पटेल राज्य के नागिरकों को आश्वस्त करते हुए कहा कि सरकार किसी भी प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.

अस्पताल में बैड खाली हैं और अतिरिक्त बैड समेत कोविड वार्ड की भी व्यवस्था की जा रही है. नागरिकों को किसी प्रकार की अफवाह से भ्रमित होने की जरूरत नहीं है. कोरोना की स्थिति केवल गुजरात (Gujarat) ही नहीं बल्कि देशभर में विकट है. उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि 1200 बैड के अस्पताल में 971 मरीज उपचाराधीन हैं. 1200 बैड के अस्पताल में अब भी 60 आईसीयू बैड खाली है. इसके अलावा इस अस्पताल में 120 बैड अतिरिक्त व्यवस्था की जाएगी. अहमदाबाद (Ahmedabad) के सोला सिविल अस्पताल में 400 आईसोलेशन वार्ड और आईसीयू के 50 बैड है. सोला सिविल में कोरोना के 270 सामान्य मरीजों का उपचार चल रहा है. गांधीनगर सिविल अस्पताल में भी 230 नोन क्रिटिकल मरीज उपचाराधीन हैं.

उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि कर्फ्यू के दौरान जीवन जरूरी वस्तुएं, मसलन दूध, दवाई की दुकान, पेट्रोल (Petrol) और गैस स्टेशन, फार्मा कंपनी, बिजली और पानी सप्लाई करने और उससे जुड़े लोग अपना आईडी कार्ड दिखाकर आवागमन कर सकेंगे. अहमदाबाद (Ahmedabad) रेलवे (Railway)स्टेशन और एयरपोर्ट पर आने जाने वाले यात्री अपना यात्रा टिकट और आईडी प्रूफ दिखाकर शहर में प्रवेश और प्रस्थान कर सकेंगे. अहमदाबाद (Ahmedabad) रेलवे (Railway)स्टेशन पर यात्रियों (Passengers) के लिए खास सिटी बस की व्यवस्था भी की गई है. नितिन पटेल ने बताया कि कर्फ्यू के दौरान सीए, एनआईसी, सीएसआई, एसएससी समेत अन्य परीक्षा देने जा रहे विद्यार्थियों को अपना आई कार्ड बताना होगा.