Tuesday , 27 October 2020

कोरोना पीड़ितों की संख्या 38 और ठीक होने वालों की संख्या 29 लाख के पार – एक्टिव मरीजों की संख्या में महाराष्ट्र ने रुस को पीछे छोड़ा

नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना संक्रमण के मामले में अब ब्राजील को पीछे छोड़ने के करीब पहुंचे भारत में बुधवार (Wednesday) को 77,712 नए संक्रमित मिलने के साथ ही पीड़ितों की संख्या बढ़कर 38 लाख 44 हजार 270 हो गई है. बुधवार (Wednesday) को 60,000 से अधिक मरीजों को कोरोनावायरस से मुक्ति मिली और ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 29,60,000 से ज्यादा हो गई. देश में अब तक इस बीमारी से 67,465 लोगों की मौत हो चुकी है. आंकड़े देखकर कहा जा सकता है कि जल्द ही भारत संक्रमण के मामले में ब्राजील को पीछे छोड़ देगा. मौत के मामले में भारत तीसरे नंबर पर पहले ही पहुंच चुका है. भारत में मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम है और इस मामले में भारत रूस के साथ बराबरी पर है.
लेकिन लगातार कई दिनों से प्रतिदिन सत्तर हजार नए संक्रमित मिलने के साथ अब यह आशंका प्रबल हो गई है कि मध्य अक्टूबर तक भारत में लगभग एक करोड़ कोरोना संक्रमित होंगे. इसकी तुलना मौत की दर से की जाए तो उस समय तक भारत में डेढ़ लाख से अधिक लोगों की मौत हो सकती है.

सर्वाधिक चिंतनीय हालात महाराष्ट्र (Maharashtra) के हैं. लंबे समय से महाराष्ट्र (Maharashtra) में 15,000 से ऊपर नए संक्रमित मिल रहे हैं. बुधवार (Wednesday) को एक बार फिर 17,433 नए संक्रमित मिले वहीं 292 लोगों की मौत हुई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में पीड़ितों की संख्या 8,25,739 हो गई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में अब तक मौतों की संख्या 25,195 हो गई है, महाराष्ट्र (Maharashtra) में 2,01,703 एक्टिव मरीज है, जो कि रुस से ज्यादा है. रुस में 166417 एक्टिव मरीज हैं. इस मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) रुस से आगे हो गया है. इस तरह संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) ने दुनिया के पांचवें नंबर के देश पेरू को पीछे छोड़ दिया है और चौथे नंबर के देश रूस के करीब पहुंचने वाला है. जिस गति से इस प्रदेश में संक्रमण फैल रहा है उसे देखते हुए आशंका है कि आगामी 15 दिन के भीतर भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर तो संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) दुनिया में चौथे नंबर पर पहुंच जाएगा. संक्रमण के मामले में आंध्रप्रदेश और कर्नाटक (Karnataka) अर्जेंटीना को पीछे छोड़कर स्पेन जैसे देशों के करीब पहुंचने वाले हैं.

बुधवार (Wednesday) को आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)में 10,392, कर्नाटक (Karnataka) में 9860, तमिलनाडु में 5990, उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में 5682, दिल्ली में 2509, पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 2976, बिहार (Bihar)में 1969, तेलंगाना में 2892, ओडिशा में 3219, गुजरात में 1305, राजस्थान (Rajasthan) में 1511, केरल में 1547, हरियाणा (Haryana) में 1792, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में 1424, पंजाब (Punjab) में 1481, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 1943 नए मरीज मिले. इसमें असम का आंकड़ा शामिल नहीं है जहां प्रतिदिन 2000 से ऊपर नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) जैसे छोटे राज्यों में 1900 से अधिक मरीज मिलना चिंता का विषय है. एक समय ऐसा था जब छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में एक्टिव मरीज की संख्या इकाई में थी. अब यहां पर एक्टिव मरीज की संख्या 16,000 से ऊपर पहुंच चुकी है जो कि दिल्ली के बराबर है. देश के दूसरे छोटे राज्यों में भी अब कोरोनावायरस तेजी से फैल रहा है. इनमें से कुछ राज्य तो ऐसे हैं जहां पर सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल न के बराबर हैं. ऐसे कई राज्यों के गंभीर मरीजों को दूसरे राज्यों में शिफ्ट भी किया गया है.
हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय इस बात से इंकार करता है कि देश में कोरोना अनियंत्रित है. लेकिन प्रतिदिन 900 से अधिक मौत की संख्या इस दावे को झुठलाती प्रतीत हो रही है.