54 बूथों में लगेगा कोरोना का टीका, प्रतिदिन 20 हजार टीके लगाने का लक्ष्य

बिलासपुर (Bilaspur) . कोरोना वैक्सीनेशन अभियान में सोमवार (Monday) से बड़ा बदलाव होने जा रहा है. 18 प्लस और 45 आयु की नीति खत्म हो जाएगी. टीकाकरण केंद्र में जो पहुंचेंगे उन्हें वैक्सीन लगायी जाएगी. आयु श्रेणी का बंधन खत्म होने से वैक्सीनेशन का टारगेट बढ़ा दिया गया है. बिलासपुर (Bilaspur) में रोज 15 से 20 हजार टीके लगाए जाएंगे. बिलासपुर (Bilaspur) के 54 बूथों में इसकी तैयारी कर ली गयी है.

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने हर बूथ में 2-2 सत्र में टीकाकरण का प्लान किया गया है. हर सत्र में 100 के हिसाब से एक केंद्र में 200 टीके लगाए जाएंगे. वैक्सीन ज्यादा मिलने पर टीकाकरण केंद्र की संख्या भी बढ़ायी जाएगी ताकि लोगों को अपने घरों के आस-पास ही टीका लगाने की सुविधा मिल सके.

अफसरों के अनुसार 45 प्लस और 18 प्लस के वैक्सीन के स्टॉक को आपस में मर्ज कर दिया जाएगा. वैक्सीन का अब तक जितना भी स्टॉक उपलब्ध रहेगा उसमें श्रेणी नहीं होगी. टीके के स्टॉक केवल एक ही श्रेणी रहेेंगे. यानी 45 प्लस या 18 प्लस जैसा कोई बंधन नहीं रहेगा. टीकाकरण केंद्र से किसी को लौटाया नहीं जाएगा.

इससे टीके की रफ्तार बढ़ाने में भी मदद मिलेगी. पहले 18 प्लस और 45 प्लस का स्टॉक अलग-अलग था. 18 प्लस श्रेणी के टीके केवल अंडर 45 तक को ही लगाए जाते थे. 18 प्लस का स्टॉक कम आता था, लेकिन 45 प्लस के लिए भरपूर स्टॉक भेजा जाता था. इस वजह से 18 प्लस के टीके कुछ ही दिन में खत्म हो जाते थे और उनमें टीका लगाने की होड़ मची रहती थी, जबकि 45 प्लस के टीके का ज्यादा स्टॉक होने के बावजूद लोग टीका लगाने नहीं पहुंचते थे.

अब इस सिस्टम को बदल दिया गया है. इसी तरह 21 जून से 21 जुलाई के बीच एक माह के भीतर पूरे प्रदेश में 22 लाख टीके लगाने का टारगेट रखा गया है. इसे पूरा करने के लिए पंचायत स्तर पर तैयारी कर ली गई है. हर पंचायत को दोनों आयु वर्ग में जल्दी से जल्दी लक्ष्य पूरा करने के लिए कहा गया है. ग्रामीण इलाकों में सरपंच, पंच और पंचायत सचिव हेल्थ वर्कर के साथ वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करेंगे. ग्रामीण इलाकों में सरपंच, पंच और पंचायत सचिव हेल्थ वर्कर के साथ वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करेंगे.

सभी स्वास्थ्य केंद्रों में टीके लगाए जाएंगे

कोविन पोर्टल पर बिलासपुर (Bilaspur) शहर के लिए 54 केंद्रों की सूची दे दी गई है. इसमें हितग्राही अपनी पसंद के हिसाब से नजदीकी सेंटर चुन सकेंगे. सभी स्वास्थ्य केंद्रों, शहरी स्वास्थ्य केंद्रों, हमर अस्पताल, सामुदायिक भवन, स्कूल, कॉलेजों के भवनों को भी लिस्ट में शामिल किया गया है. 54 केंद्रों की संख्या को जल्दी ही बढ़ाकर 100 से अधिक करने का प्लान भी है. इसके लिए वार्ड स्तर पर केंद्र बढ़ाए जा रहे हैं. नगर निगम की ओर से टीकाकरण केंद्र बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है. टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ जाने के बाद रोज आसानी से 20 हजार टीके लग सकेंगे.

Please share this news