Monday , 1 June 2020
कोरोना संदिग्ध मरीज युवक को सवारियों ने विरोध कर सडक किनारे उतरवा दिया

कोरोना संदिग्ध मरीज युवक को सवारियों ने विरोध कर सडक किनारे उतरवा दिया

मुस्लिम दोस्त ने आखरी सांस तक नहीं छोड़ा साथ, अस्पताल मे हुई मौत

भोपाल (Bhopal) /शिवपूरी . प्रदेश के शिवपूरी के जिला अस्पताल में कोरोना संदिग्ध मजदूर की इलाज के दौरान मौत हो जाने की घटना सामने आई है. जानकारी के अनुसार मृतक मजदूर अमृत (24) पुत्र रामचरण सूरत (Surat) गुजरात से अपने दोस्त याकूब मोहम्मद के साथ बंदी बलास जिला बस्ती यूपी जा रहा था. इसी दोरान रास्ते मे उसकी तबीयत खराब होने पर अन्य सवारियो के विरोध करने पर ट्रक चालक ने उसे कोलारस बायपास पर सडक किनारे नीचे उतार दिया इस इस दौरान उसके मुस्लिम साथी ने उसका साथ नही छोडा ओर वो भी उसके साथ नीचे उतर गया ओर उसका सिर अपनी गोद मे रखकर मदद के लिये पुकारने के साथ ही रोने लगा.

जानकारी के अनुसार शुक्रवार (Friday) देर शाम गुजरात के सूरत (Surat) से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बस्ती जिला जाने के लिए ट्रक से लौट रहे मजदूर युवक की हालत अचानक बिगड़ गई थी. ट्रक में बैठीं दूसरी सवारियों ने विरोध कर ड्राईवर से युवक को सड़क किनारे उतारने को कहा. लेकिन अमृत के दोस्त याकूब मोहम्मद ने उसका साथ नहीं छोड़ा और वो भी रास्ते में ही उतर गया. याकूब सडक किनारेअमृत का सिर गोदी में रख बैठ गया और लोगों से मदद की गुहार लगाने लगा. हाईवे से गुजर रहे लोगों ने उसको रोता देख एम्बुलेंस बुलाई और दोनों को अस्पताल भेजा. गंभीर हालत के चलते युवक को आईसीयू में भर्ती किया गया था. अमृत कुमार के साथ जिला अस्पताल में मौजूद याकूब (23) पुत्र मोहम्मद युनुस का कहना है कि हम दोनों गुजरात के सूरत (Surat) स्थित फैक्ट्री में मशीन से कपड़ा बुनने का काम करते थे. लॉकडाउन (Lockdown) के कारण फैक्ट्री बंद हो गई.

सूरत (Surat) से ट्रक में 4-4 हजार रुपए किराया देकर नाशिक, इंदौर (Indore) होते हुए कानपुर (Kanpur) लौट रहे थे. सफर के दौरान अचानक हालत बिगड़ गई. अमृत को तेज बुखार आ गया. इसके बाद ट्रक में बैठे करीब 60 लोग विरोध करते हुए ड्राईवर से अमृत को उतारने का कहते हुए दबाव बनाने लगे. अमृत का ख्याल रखने के लिए वो भी उसके साथ नीचे उतर गया. इसके बाद बेहोशी की हालत मे लाए गए मजदूर युवक ने देर रात दम तोड़ दिया. डॉक्टरो का कहना है कि मृतक युवक का सैंपल ले लिया गया है, लेकिन अभी रिपोर्ट नहीं आई. अस्पताल से मिली जानकारी के बाद पुलिस (Police) ने मृतक के परिजनों को सूचित करते हुए कोरोनावायरस के सैंपल लेने के बाद शव को शवगृह में रखवा दिया गया है.