Monday , 26 July 2021

कोरोना: यात्री वाहनों में नहीं हो रहा गाइडलाइन का पालन

भोपाल (Bhopal) . राजधानी में चलने वाले यात्रा वाहनों में कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं हो रहा है. मैजिक, ऑटो, आपे ऑटो, ई-रिक्शा, बसों में सफर करने वाले यात्री और वाहन चालक कंडक्टर कोई मास्क नहीं लगा रहे हैं. एक ओर शहर में कोरोना संक्रमण लगातार ब़ढ रहा है और दूसरी ओर यात्री परिवहन वाहनों में सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं.

‎विभागीय मंत्री और अधिकारियों की हिदायत के बाद भी शहर के आइएसबीटी, नादरा, हलालपुर, पुतलीघर से चलने वाली अधिकतर बसों में कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है. ड्राइवर, कंडक्टर बसों में मास्क नहीं लगा रहे हैं. लोग भी बसों में बिना मास्क के ही सफर कर रहे हैं. अनेक बसों में अब भी यात्रियों (Passengers) को बैठाने में सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है.

आरटीओ उ़डनदस्ते ने अब तक बसों में चेकिंग अभियान शुरू नहीं किया है. ऐसे में जब-जब परिवहन मंत्री निरीक्षण करने जाते हैं, तब-तब ही बस स्टैंडों से संचालित बसों में सफर करने वाले लोग मास्क लगाते हैं. जैसे ही मंत्री का निरीक्षण खत्म होता है, वैसे ही नियमों की धज्जियां उ़डने लगती हैं. लोग बना मास्क के ही सफर करने लगते हैं. बसों में कोरोना से बचाव के लिए कोई इंतजाम नहीं रहते. न ही बसों में सैनिटाइज रखे मिलते हैं और न ही लोग मास्क लगाते हैं. इतना ही नहीं, शहर में संचालित मैजिक, ऑटो, आपे ऑटो, ई-रिक्शा, लो फ्लोर बसों में यात्रा करने वाले अधिकांश लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं. यह लापरवाही भारी प़ड रही है. यदि ऐसे ही कोरोना गाइडलाइन का उल्‍लंघन होता रहा तो आने वाले दिनों में कोरोना बेकाबू हो जाएगा.

बता दें ‎कि बीते दिनों प्रदेश के परिहवन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने इंटर स्टेट बस टर्मिनस (आइएसबीटी) पर पहुंच कर बसों के ड्राइवर, कंडक्टर व सवारियों को मास्क भी लगाए थे. मंत्री ने हाथ जो़डकर कोरोना से बचाव के लिए लोगों से बसों में अनिवार्य रूप से मास्क लगाने के लिए भी कहा था. साथ ही चेताया था कि यदि बिना मास्क के कोई मिला तो बस मालिकों पर चालानी कार्रवाई की जाएगी.

Please share this news