Wednesday , 2 December 2020

कर्जा उतारने के लिये रची खुद की मौत की साजिश, दूसरे को जिंदा जलाकर मार डाला


-ब्लाइंड मर्डर का खुलासा: 26 माह बाद आखिर पुलिस (Police) ने किया कैलाश स्वामी को गिरफ्तार

चूरू . जिले की रतनगढ़ पुलिस (Police) ने दो साल पहले हुये ब्लाइंड मर्डर का सनसनीखेज खुलासा करते हुए वारदात के 26 माह बाद आरोपी 42 वर्षीय कैलाश स्वामी को जयपुर (jaipur)से गिरफ्तार कर लिया है. हत्या (Murder) की यह वारदात 7 सितंबर 2018 को हुई थी. पुलिस (Police) को 7 सितंबर को रतनगढ़-सरदारशहर मेगा हाइवे पर कार में एक अधजली लाश मिली थी. पुलिस (Police) तहकीकात में परिजनों ने अपने बयानों में शव की शिनाख्तगी को लेकर संशय जताया. इस पर पुलिस (Police) ने अलग-अलग एंगल से मामले की तफ्तीश शुरू की.

पुलिस (Police) ने साइबर क्राइम और फोरेन्सिक सहित कई टीमें गठित की. इन टीमों ने चूरू जिले के साथ-साथ बीकानेर, जयपुर, सीकर, कोटा, बारां, टोंक, हैदराबाद, बैंगलोर और कोलकाता (Kolkata) समेत कई शहरों से सूचनायें एकत्र की. आखिरकार पुलिस (Police) ने कड़ी से कड़ी जोड़ते हुये करीब 26 माह पुराने इस ब्लाइंड मर्डर का खुलासा कर आरोपी कैलाश स्वामी को गिरफ्तार कर लिया. सीआई महेंद्र कुमार ने बताया कि आरोपी कैलाश लाखों रुपयों के कर्ज में डूबा हुआ था. इस कर्ज उतारने के लिये कैलाश ने 40 लाख रुपये की टर्म इन्श्योरेन्स करवाकर स्वयं की हत्या (Murder) की साजिश रची.

फिर खाजूवाला बस स्टैंड पर होटल (Hotel) और ढाबों में मजदूरी करके फुटपाथ पर रहने वाले किशनलाल को शराब का लालच देकर अपनी कार में बिठाया. कैलाश ने उसे अत्यधिक शराब पिलाकर बेहोश कर दिया. आरोपी ने पूर्व नियोजित साजिश के तहत रतनगढ़ के पास आकर देर रात में कार में पेट्रोल (Petrol) छिड़ककर किशनलाल को आग लगा दी. खुद की मौत घोषित करने के उद्देश्य से कैलाश स्वामी ने अपनी आईडी मृतक के पास रख दी थी. मृतक किशनलाल की गुमशुदगी भी पूर्व में खाजूवाला पुलिस (Police) थाना में दर्ज हुई थी.