कांग्रेस ने लूटा, जबकि भाजपा सरकार ने विकास करके दिखाया है- तोमर – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

कांग्रेस ने लूटा, जबकि भाजपा सरकार ने विकास करके दिखाया है- तोमर

रैगांव /सतना . केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने प्रदेश व देश में विकास करके दिखाया है, जबकि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए लूट-खसोट के अलावा जनकल्याण के लिए कोई उल्लेखनीय काम नहीं किया. कांग्रेसियों ने किया तो सिर्फ इतना कि अपना घर भरो, कांग्रेस ने विकास किया होता तो आज उसकी ऐसी हालत नहीं होती. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जी के नेतृत्व में सरकार जनता के लिए चौतरफा काम कर रही है.

केंद्रीय मंत्री तोमर ने यह बात आज मध्य प्रदेश के सतना जिले के रैगांव विधानसभा क्षेत्र मेंभाजपा की विजय संकल्प सभा एवं कृषक मित्र संवाद में कही. तोमर ने कहा कि हम सब यह भली-भांति जानते है कि देश के राजनीतिक क्षेत्र में कौन लोग अपने स्वार्थ के लिएजनता को गुमराह करते है, झूठ बोलते हैं, छल करते है और सरकार में आ जाएं तो सिर्फ सरकार को भोगने का काम करते हैं.आजादी के बाद बरसों तक कांग्रेस को देश व प्रदेश में राज करने का मौका मिला, अगर कांग्रेस ईमानदार होती, विकास के पक्ष में होती, गरीबी व भ्रष्टाचार को समाप्त करना चाहती तो म.प्र.के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह को यहां आकर ट्रांसफार्मर लगवाने व मुफ्त में खाद्यान्न बांटने की जरूरत नहीं पड़ती.

कांग्रेस ने सरकार में रहकर बहुत गड्ढ़े किए हैं. वर्ष 2003 के पहले म.प्र. में बिजली के दर्शन होते थे क्या, तब म.प्र. की जनता नारे लगाती थी- चारों तरफ अंधेरा है और पहरेदार लुटेरा है, जिसके बाद जनता ने ऐसे पहरेदार को हटा दिया. तब (2003 में) म.प्र.में बिजली का उत्पादन 2900 मेगावाट होता था और आज भाजपा के राज में 20 हजार मेगावाट होता है. ये भाजपा व कांग्रेस में फर्क है.जनता ने तंग आकर लुटेरी सरकार से मुक्ति पा दोबारा शिवराजसिंह चौहान को सीएम बनाया.
तोमर ने सवाल उठाया कि कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री (Chief Minister) रहते कमलनाथ ने लाड़ली लक्ष्मी, संबल व तीर्थ दर्शन योजना बंद क्यों की, ये योजनाएं भाजपा कार्यकर्ताओं के नहीं बल्कि म.प्र. की सात करोड़जनता-जनार्दन के लिए थी. इन योजनाओं को बंदकरने का पाप करने के कारण कमलनाथ को अपदस्थ होना पड़ा.पुनः भाजपा की सरकार बनने के बाद शिवराज जी ने जनकल्याण कीइन योजनाओं को बहाल किया और गांव-गरीब-किसान परिवारों आदि को फिर से इनकालाभ मिलना प्रारंभ हो गया है.भाजपा विकास के आधार पर काम करने वाला राजनीतिक दल है, चाहे म.प्र. में भाजपा की सरकार हो या केंद्र में.

जब-जब ये सरकारें बनीं है, भाजपा का कमलखिला तोसरकार ने विकास करके दिखाया है.देश में कांग्रेस की सरकार रहते छह लाख गांवों में पक्का रास्ता नहीं होने के कारण किसी शादी या तेरहवीं में 15-20 किलोमीटर दूर भी जाने पर ग्रामीणों को एक दिन में जाकर वापस लौटना मुश्किल होता था,बाद में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनने पर उन्होंने प्रधानमंत्रीग्राम सड़क योजना प्रारंभ की और आज इसमें म.प्र.अग्रणी राज्योंमें है. इसी प्रकार, पीएम ग्राम सड़क का तीसरा चरण पीएम मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में प्रारंभ किया, जिसमें80 हजार करोड़रूपएखर्च करके सवालाख किलोमीटर लंबी सड़क बनाई जा रही है. ग्रामीण क्षेत्रों में पीने के पानी की किल्लत दूर करने के लिए मोदी जी ने जलशक्ति मंत्रालय के माध्यम से हर घर नल योजना प्रारंभ की है. पूरे देश में, हर गांव में, हर घर में टोटी वाले नल से पानी मिले,इसके लिए तीन लाख करोड़ रू. की योजना प्रारंभ की गई है. यह सब सरकार, सरकार के बीच का फर्क है.
केंद्रीय कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि देश मेंखेती-किसानी लाभ में आए,इसकेलिएन्यूनतम समर्थन मूल्य का रेट एक प्रक्रिया के माध्यम से तय किया जा रहा है.

लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफे की गारंटी को किसानों कीआय बढ़ानेके लिए मोदी जी ने सुनिश्चित किया है. किसानों को आय सहायता के लिए हर साल छह-छह हजार रू. सीधे उनके बैंक (Bank) खातों में डालने काकाम मोदी जी ने किया. इस प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत अभी तक लगभग साढ़े 11 करोड़ किसानों को केंद्र सरकार (Central Government)के खाते से लगभग 1.60 लाख करोड़ रूपए दिए गए है. यहीं कांग्रेस की सरकार होती तो ये राशि पाने के लिए किसानों की एड़िया घिस जाती, फिर भी आधे पैसे दलाल खा जाता. कांग्रेस शासनकाल में प्रधानमंत्री राजीव गांधी ही कहते थे कि केंद्र से 100 रू. जाते है तो 15 रू. ही नीचे तक पहुंचते है लेकिन मोदी जी के पीएम रहते हितग्राही को पूरी राशि मिल रही है, अब इसमें कहीं कोई दलाल या बिचौलिया नहीं है. तोमर ने कहा कि गांव-गांव में वेयर हाउस वकोल्ड स्टोरेज बने ताकि किसान अपनी उपज कुछ बाद मेंअच्छे दाम पर बेच सकें और उनका उत्थान हो, इसके लिए एक लाख करोड़ रू.की कृषि अवसंरचना निधि योजना केंद्र ने प्रारंभ की है. किसानों की इन सुविधाओं के लिए पहले किसी ने नहीं सोचा. किसानों को मंडी जाने की जरूरत नहीं पड़े, जिसके लिए नए कानून बनाने का काम मोदी सरकार ने किया है. भाजपा की मान्यता है कि किसान फायदे में है तो खेती फायदे में होगी और खेती फायदे में है तो देश फायदे में होगा. किसान समृद्ध होंगे तो देश समृद्ध होगा और नागरिक आगे बढ़ेंगे तो देश भी आगे बढ़ेगा.

सभा को क्षेत्रीय सांसद (Member of parliament) गणेश सिंह और म.प्र.के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने भी संबोधित किया. शंकरलाल तिवारी, पुष्पराज बागरी, धर्मेंद्र सिंह बराड, सुभाष सिंह, सुरेंद्र सिंह बघेल, अनिल जायसवाल सहित अन्य कई नेता भी उपस्थित थे.

Check Also

ट्राई ने नंबर पोर्ट कराना और ज्यादा आसान किया

मुंबई (Mumbai) .टेलिकॉम कंपनियों ने अपने प्रीपेड प्लान को पहले के मुकाबले काफी महंगा कर …