Tuesday , 13 April 2021

औरंगाबाद का नाम बदलने पर कांग्रेस और शिवसेना में तकरार

– कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने कहा, सरकार तीन पार्टियों की है, यह नहीं भूलना चाहिए

मुंबई (Mumbai) . महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिवसेना और कांग्रेस के बीच औरंगाबाद (Aurangabad) शहर का नाम बदलने के मुद्दे पर विवाद खड़ा हो गया है. महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) का नाम बदलने को लेकर कांग्रेस और शिवसेना एक दूसरे से नाराज दिखाई दे रहे हैं. शिवसेना औरंगाबाद (Aurangabad) का नाम बदलकर संभाजी नगर करने की योजना बना रही है. इस पर कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने शिवसेना को गठबंधन धर्म और कॉमन मिनिमम प्रोग्राम की याद दिला दी. कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने कहा ‎कि औरंगाबाद (Aurangabad) का नाम बदलना शिवसेना का अपना पुराना एजेंडा है, लेकिन सरकार तीन पार्टियों की है, यह नहीं भूलना चाहिए. गठबंधन की सरकारें कॉमन मिनिमम प्रोग्राम से चलती हैं. किसी के पर्सनल एजेंडे से नहीं. प्रोग्राम काम करने के लिए बना है, नाम बदलने के लिए नहीं. कांग्रेस की नाराजगी की खबरों को शिवसेना तूल नहीं देना चाहती है1 शिवसेना सांसद (Member of parliament) संजय राउत ने कहा ‎कि औरंगाबाद (Aurangabad) का नाम बदलना शिवसेना का पुराना एजेंडा है और साथ बैठकर महा विकास अघाड़ी में शामिल पार्टियां इस पर एक राय बना लेंगी.

महाविकास अघाड़ी में कोई विवाद हो तो भाजपा कैसे पीछे रह जाए. औरंगाबाद (Aurangabad) के नाम बदलने के मुद्दे पर शिवसेना और कांग्रेस की नाराजगी पर बीजेपी ने चुटकी ली है. भाजपा ने कहा ये काम शिवसेना पहले भी कर सकती थी. ये काम, ये पूरी लड़ाई ही झूठी है. इससे पहले भी महा विकास अघाड़ी में शामिल कांग्रेस, राहुल गांधी पर टिप्पणी और शरद पवार को यूपीए का अध्यक्ष बनाए जाने की वकालत वाले बयान पर नाराजगी दिखा चुकी है. अब औरंगाबाद (Aurangabad) के नाम बदलने के मुद्दे पर कांग्रेस नेताओं के तेवर कड़े हैं.

Please share this news