Sunday , 18 April 2021

16 शहरों में शीतलहर के साथ कोल्ड डे

भोपाल (Bhopal) . हिमाचल-जम्मू (Jammu) कश्मीर में पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के चलते समूचा उत्तर भारत कड़ाके की ठंड झेल रहा है. इसका असर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में भी दिखने लगा है. वहां से आ रही बर्फीली हवाओं से प्रदेश में ठिठुरन बढ़ गई है. प्रदेश के 16 शहरों में बुधवार (Wednesday) को शीतलहर के साथ कोल्ड डे रहा. भोपाल (Bhopal) में सीजन का सबसे ठंडा दिन रिकॉर्ड किया गया, तापमान 18 डिग्री तक लुढ़क गया. ये सामान्य से 7 डिग्री कम है. मध्य प्रदेश के छतरपुर, उज्जैन, शाजापुर, रतलाम, खरगोन, इंदौर, धार, राजगढ़ और रायसेन में कोल्ड डे के साथ शीतलहर भी चली. इसके साथ ही मुरैना, श्योपुरकलां, भिंड (Bhind), दतिया, शिवपुरी, ग्वालियर (Gwalior) और अशोकनगर में कोल्ड डे रिकॉर्ड किया गया. इधर, 11 शहरों में न्यूनतम पारा 7 डिग्री से नीचे पहुंच गया है. सबसे सर्द रात दतिया में रही, यहां का न्यूनतम तापमान लुढ़ककर 3 डिग्री रिकॉर्ड किया गया.

राजधानी भोपाल (Bhopal) में मंगलवार (Tuesday) को दिन का तापमान भी सामान्य से 6 डिग्री नीचे 19.3 डिग्री और भोपाल (Bhopal) में रात का तापमान सामान्य से 3 डिग्री नीचे 7.8 डिग्री दर्ज किया गया, इसलिए यहां कोल्ड डे रहा है. हालांकि न्यूनतम तापमान में आज 3 डिग्री की बढ़ोत्तरी हो गई है. न्यूनतम तापमान 10.1 रिकॉर्ड किया गया. मंगलवार (Tuesday) को उज्जैन समेत 5 अन्य जिलों में भी कोल्ड डे रहा. इंदौर (Indore) और धार में सीवियर कोल्ड डे था. इन शहरों में दतिया, धार, गुना, ग्वालियर (Gwalior), खरगोन, पचमढ़ी, रायसेन, रतलाम, खजुराहो, नौगांव, शाजापुर में सात डिग्री से कम तापमान रहा.

राजस्थान (Rajasthan)में पड़ रही भीषण ठंड के चलते ग्वालियर (Gwalior)-चंबल में पारा तेजी से लुढ़का है. मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, ठंड के यह तेवर एक जनवरी तक इसी तरह बने रहने के आसार हैं. इस दौरान प्रदेश में न्यूनतम तापमान दो डिग्री तक पहुंच सकता है. सोमवार (Monday) से हवाओं का रुख उत्तरी होते ही राजधानी सहित प्रदेश में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू हो गया है. ग्वालियर (Gwalior), चंबल, सागर संभाग शीतलहर की चपेट में आ चुके हैं. फसलों पर पाला पडऩे की आशंका भी बढ़ गई है.

Please share this news