कोयला घोटाला: बंगाल के कानून मंत्री मोलोय घटक ने भी ईडी के सामने पेश होने से किया इनकार – Daily Kiran
Saturday , 23 October 2021

कोयला घोटाला: बंगाल के कानून मंत्री मोलोय घटक ने भी ईडी के सामने पेश होने से किया इनकार

कोलकाता (Kolkata) . पश्चिम बंगाल (West Bengal) की सीएम ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल कांग्रेस के सांसद (Member of parliament) अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रुजीरा बनर्जी के बाद, राज्य के कानून मंत्री मोलोय घटक ने भी प्रवर्तन निदेशालय को सूचित किया कि उनके लिए मंगलवार (Tuesday) को नई दिल्ली (New Delhi) में ईडी कार्यालय जाना संभव नहीं है. उन्होंने सुझाव दिया है कि ईडी के अधिकारी उनसे पूछताछ के लिए कोलकाता (Kolkata) आ सकते हैं. ईडी ने घटक को कोयला घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तलब किया था.
ईडी के सूत्रों के मुताबिक, राज्य के कानून मंत्री ने केंद्रीय एजेंसी को पत्र लिखकर कहा कि इतने कम समय में ईडी कार्यालय में उनका उपस्थित होना संभव नहीं होगा. मंत्री ने इसके बजाय एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में अपना बयान दर्ज करने का प्रस्ताव रखा. घटक के वकील दिवाकर कुंडू दिल्ली जा रहे हैं. मंत्री ने उन्हें सूचित किया कि उन्हें 10 सितंबर को नोटिस मिला था, लेकिन अगले दो दिनों में छुट्टियां थीं और 13 सितंबर को कैबिनेट की बैठक हुई. इसलिए, सभी दस्तावेजों को इतनी जल्दी तैयार करना संभव नहीं था.

मंत्री ने यह भी कहा कि चूंकि वह कोलकाता (Kolkata) में तैनात हैं और ईडी का शहर में कार्यालय है, इसलिए अधिकारी कोलकाता (Kolkata) आकर अपना बयान दर्ज करा सकते हैं. मंत्री ने यह भी कहा कि वह अपने सर्वोत्तम ज्ञान के लिए जांच एजेंसी के साथ सहयोग करने के लिए तैयार हैं. अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रुजीरा बनर्जी के बाद, घटक तीसरे व्यक्ति हैं जिन्हें कोयला घोटाले की जांच कर रही केंद्रीय एजेंसी से फोन आया है. हालांकि रुजीरा बनर्जी ने दिल्ली जाने से इनकार कर दिया, लेकिन अभिषेक बनर्जी 6 सितंबर को नई दिल्ली (New Delhi) में ईडी कार्यालय गए और उनसे नौ घंटे तक पूछताछ की गई. अगले दिन उन्हें फिर बुलाया गया लेकिन उन्होंने जाने से इनकार कर दिया. ईडी ने नया नोटिस जारी कर उन्हें 21 सितंबर को पेश होने को कहा है.
(पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत दायर मामला, ईडी द्वारा केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की नवंबर, 2020 की प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद दायर किया गया था, जिसमें ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से संबंधित करोड़ों रुपए के कोयला चोरी का आरोप लगाया गया था. आसनसोल और उसके आसपास राज्य के कुनुस्तोरिया और कजोरा क्षेत्रों में स्थानीय स्टेट ऑपरेटिव अनूप मांझी उर्फ लाला इस मामले में मुख्य संदिग्ध है. ईडी ने पहले दावा किया था कि घटक इस अवैध व्यापार से प्राप्त धन का लाभार्थी था. ईडी के सूत्रों के मुताबिक, जांचकर्ताओं ने इस सिलसिले में एक से ज्यादा लोगों से बात कर जानकारी जुटाई है और उनके बयान दर्ज किए हैं. इन पूछताछों में घटक का नाम कई मौकों पर सामने आया है. ईडी के अलावा CBI कोयला घोटाले की भी जांच कर रही है.

Please share this news

Check Also

ममता के वित्तमंत्री को आरोप, डर के कारण 6 साल में 35,000 कारोबारी देश छोड़कर जा चुके

कोलकाता (Kolkata) .बंगाल की ममता सरकार में वित्त मंत्री अमित मित्रा ने मोदी सरकार पर …