Friday , 16 April 2021

गाजियाबाद की घटना पर अफसरों से नाराज सीएम योगी

लखनऊ (Lucknow) . मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ श्‍मशान घाट की छत गिरने की घटना पर गा‎जियाबाद अफसरों से बेहद नाराज हैं. इस मामले में उन्होंने जिम्‍मेदार अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के संकेत दिए हैं. अब कमिश्‍नर और गाजियाबाद (Ghaziabad) के डीएम समेत कई बड़े अधिकारियों पर कार्रवाई की गाज गिर सकती है.

दरअसल, सोमवार (Monday) को मुख्‍यमंत्री इस घटनाओं को लेकर अधिकारियों पर जम कर बरसे. घटना को अफसरों की गंभीर लापरवाही करार देते हुए सीएम योगी ने कहा कि इस तरह की लापरवाही अक्षम्‍य है. ऐसे अपराध करने वाले अफसरों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि हर मंडलीय समीक्षा बैठकों में अफसरों को साफ तौर पर यह निर्देश दिया गया था कि जिलों में हो रहे 50 लाख से अधिक की लागत के निर्माण कार्यों की गुणवत्‍ता की जांच टास्‍क फोर्स गठित कर हर हाल में करवा ली जाए. मुरादनगर की घटना अफसरों की लापरवाही का परिणाम है. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश भर में जहां भी निर्माण कार्य हो रहे हैं या हो चुके हैं उनकी गुणवत्‍ता की जांच कर अधिकारी रिपोर्ट भेजें. एक भी निर्माण कार्य की गुणवत्‍ता में कमीं मिली तो इसकी पूरी जिम्‍मेदारी जिले के आला अधिकारियों की होगी. मुख्‍यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि इस तरह की घटनाओं के लिए जिम्‍मेदार अफसरों के लिए शासन में कोई जगह नहीं है. मुख्‍यमंत्री ने घटना को लेकर गाजियाबाद (Ghaziabad) के जिलाधिकारी और मेरठ (Meerut) की मंडलायुक्‍त समेत अन्‍य जिम्‍मेदार अधिकारियों की भूमिका की जांच के संकेत भी दिए हैं.

बता दें ‎कि, गाजियाबाद (Ghaziabad) के मुरादनगर में रविवार (Sunday) दोपहर श्मशान घाट के प्रवेश द्वार के साथ बने गलियारे की छत गिरने से मलबे में दबकर 25 लोगों की मौत हो गई और 15 घायल हो गए. मामले में पुलिस (Police) ने ईओ निहारिका सिंह, जेई सीपी सिंह, सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया है. ठेकेदार अजय त्यागी समेत कुछ अन्‍य लोग फरार हैं.

 

Please share this news