Sunday , 25 July 2021

राजस्थान में कम्प्यूटर शिक्षकों के 10 हजार से ज्यादा पदों पर होगी भर्ती, सीएम गहलोत ने दी अनुमति

जयपुर (jaipur) . राजस्थान (Rajasthan)की गहलोत सरकार ने बेरोजगार कम्प्यूटर शिक्षकों को राहत दी है. राज्य सरकार (State government) ने कम्प्यूटर शिक्षकों के नए कैडर के लिए 10 हजार 453 पदों के सृजन की मंजूरी दे दी है. इसके साथ ही संविदा आधार पर जरूरी तत्काल भर्ती के लिए भी मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने स्वीकृति दे दी है.

सीएम के प्रस्ताव के अनुसार शिक्षा विभाग में 9 हजार 862 पद बेसिक कम्प्यूटर अनुदेशक के और 591 पद वरिष्ठ कम्प्यूटर अनुदेशक के सृजित होंगे. बेसिक कम्प्यूटर अनुदेशक के लिए वेतनमान और वांछित योग्यता सूचना सहायक पद के समकक्ष होंगे जबकि वरिष्ठ कम्प्यूटर अनुदेशक के लिए वेतनमान और योग्यता सहायक प्रोग्रामर पद के समकक्ष होंगे.

सीएम ने कहा कि वरिष्ठ कम्प्यूटर अनुदेशक के कुल पदों में से 75 प्रतिशत पद सीधी भर्ती और 25 प्रतिशत पद विभाग में कार्यरत बेसिक कम्प्यूटर अनुदेशकों में से संवीक्षा परीक्षा पास करने पर पदोन्नति के जरिए भरे जाएंगे. वर्तमान में प्रदेश के कुल 10 हजार 680 सरकारी विद्यालयों में आईसीटी लैब संचालित हैं जिनमें से अभी करीब 800 से विद्यालयों में ही अनुदेशक उपलब्ध हैं. शेष विद्यालयों में बेसिक कम्प्यूटर अनुदेशक का एक-एक पद सृजित किया जाएगा.

बेरोजगार महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने मांग मानने के लिए मुख्यमंत्री (Chief Minister) का अभार जताया है लेकिन साथ ही संविदा आधार पर भर्ती का विरोध भी किया है. उन्होंने कहा कि संविदा आधार पर कम्प्यूटर भर्ती निकालना बिल्कुल गलत निर्णय है. इस निर्णय का हम विरोध करते हैं. उन्होंने संविदा की बजाय नियमित आधार पर भर्तियां निकालकर बेरोजगारों को राहत देने की मांग मुख्यमंत्री (Chief Minister) से की.

बता दें कि साल 2014 के बाद संविदा आधार पर कार्य कर रहे कम्प्यूटर शिक्षकों को हटा दिया गया था. कम्प्यूटर शिक्षक लम्बे समय से भर्ती को लेकर आन्दोलन कर रहे हैं. प्रस्ताव के अनुसार कम्प्यूटर अनुदेशक को हर महीने 18 हजार 500 रुपए, वरिष्ठ कम्प्यूटर अनुदेशक को 23 हजार 700 रुपए और पदोन्नति पर आने वाले वरिष्ठ कम्प्यूटर अनुदेशक को 33 हजार 800 रुपए का पारिश्रमिक मिलेगा.

Please share this news